UP UPDATES-अखिलेश सरकार ने रोक दी थी एससी,एसटी बच्‍चों की स्‍कालरशिप – सीएम योगी

0
93
.
  • सीएम ने 1217631 छात्रों को आनलाइन हस्‍तांतरित की 458.66 करोड़ रुपये स्‍कालरशिप
  • छात्रवृत्ति हस्‍तांतरण कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने किया बड़ा खुलासा
  • भाजपा सरकार बनने के बाद हमने शुरू कराई बच्‍चों की स्‍कालरशिप – सीएम
  • दलित समाज के प्रति सपा सरकार की मानसिकता बेनकाब होने से विपक्ष में हड़कंप
  • विभिन्न जिलों में छात्रवृत्ति योजना के लाभार्थी छात्र-छात्राओं से संवाद कर सीएम ने दी बधाई
  • स्नातक और स्नात्कोत्तर छात्र-छात्राओं को टैबलेट और स्मार्टफोन भी देगी योगी सरकार

प्रदेश सरकार ने गुरुवार को 1217631 छात्रों को स्‍कालरशिप की सौगात दी। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने   वर्चुअल कार्यक्रम में छात्रों के खातों में आनलाइन 458.66 करोड़ रुपये स्‍कालरशिप हस्‍तांतरित की। इस दौरान सीएम योगी ने अखिलेश सरकार द्वारा एससी,एसटी छात्रों की स्‍कालरशिप रोके जाने का बड़ा खुलासा किया। अखिलेश सरकार की दलित विरोधी मानसिकता सामने आने के बाद विपक्ष में हड़कंप मच गया है।

सीएम ने कहा कि जब भाजपा की सरकार बनी तो हमने देखा कि एससी,एसटी समाज के बच्‍चों की स्‍कालरशिप ही रोक दी गई है। 2016 से बच्‍चों की स्‍कालरशिप नहीं जा रही थी। परीक्षाएं नजदीकी आ रही थी। हमारी सरकार ने छात्रों की स्‍कालरशिप बहाल कर भेजने का काम किया। अखिलेश सरकार पर हमला बोलते हुए सीएम ने कहा कि जो सरकारें राजनीतिक प्रतिशोध और प्रतिद्वंद के तहत बच्‍चों के जीवन से खिलवाड़ करती हैं उनकी मानसिकता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

सीएम ने कहा कि 12 17 631 बच्चों को आज छात्रवृत्ति प्रदान की जा रही है। मैं प्रदेश के सभी युवा साथियों को जिन्हें आज स्कॉलरशिप उपलब्ध कराई जा रही है, उन्हें बधाई व शुभकामनाएं देता हूं। 2 अक्टूबर को भी उत्तर प्रदेश सरकार ने ने लगभग 57 लाख छात्रों को छात्रवृत्ति की किस्त भेजी थी। कोरोना महामारी के कारण बड़ी संख्या में स्कूल,कॉलेज प्रारम्भ नहीं हो पाए थे। देर से छात्रों के प्रवेश के कारण छात्रवृत्ति को अलग-अलग किस्तों में भेजा जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि साढ़े चार वर्षों में हमारी सरकार ने पूर्ववर्ती सरकार में जितने छात्रों को स्कॉलरशिप मिलती थी, उससे 40 लाख से अधिक बच्चों को इस योजना के साथ जोड़ने का कार्य किया है।

इस दौरान सीएम ने विभिन्न जिलों से वर्चुअली जुड़े विद्यार्थियों से संवाद किया और उनको बधाई दी। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में विभिन्न शिक्षा संस्थानों में 30 दिसम्बर तक प्रवेश की प्रक्रिया को पूरा कराने और स्कॉलरिशप की राशि पात्र विद्याथिर्यों के खातों में भेजने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को शुल्क प्रतिपूर्ति में या अपने लिए किसी प्रकार की पाठ्यक्रम साम्रग्री खरीदने में दिक्कत नहीं होनी चाहिये।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने युवा छात्रों को टैबलेट और स्मार्टफोन देने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि सरकार स्नातक और स्नात्कोत्तर स्तर पर पढ़ रहे विभिन्‍न विश्वविद्यालयों, इंजीनियरिंग संस्थाओं, पॉलीटैक्निक, आईटीआई, नर्सिंग, पैरा मेडिकल व अन्य जो भी पाठयक्रम हैं, उसमें प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं के लिए स्मार्टफोन ओर टैबलेट वितरण की बड़ी कार्ययोजना पर काम कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि हमारा प्रयास होना चाहिये कि जो बच्चे बचे हुए हैँ उनकी स्कॉलरिशप 26 जनवरी तक उनके खातों में भेज दी जाए।

.