अमेठी में 378.99 करोड़ रु0 की लागत 02 परियोजनाओं का शिलान्यास,लोकार्पण

0
91
.
फर्स्ट आई न्यूज डेस्क:
लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद अमेठी में 378.99 करोड़ रुपये की लागत 02 परियोजनाओं का शिलान्यास/लोकार्पण किया। इनमें 292.57 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय मेडिकल कॉलेज अमेठी का शिलान्यास तथा 86.42 करोड़ रुपये की लागत से नवनिर्मित 200 शैय्या जिला रेफरल चिकित्सालय तिलोई का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के आधार पर कार्य कर रही है। प्रदेश में 45 लाख गरीब परिवारों को आवास, 2.61 करोड़ परिवारों को शौचालय, 1.43 करोड़ परिवारों को विद्युत कनेक्शन, 09 करोड़ लोगों को का गोल्डन कार्ड बनाकर सालाना 05 लाख तक स्वास्थ्य बीमा से कवर उपलब्ध कराया गया है। सभी ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय एवं पंचायत भवनों का निर्माण कराया गया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण से लखनऊ से गाजीपुर तक का सफर आसान हुआ है। इसमें अमेठी का भी बड़ा क्षेत्र आता है एक्सप्रेस-वे के किनारे औद्योगिक इकाइयों को विकसित किया जाएगा। उन्हांेने कहा कि 70 वर्षों में प्रदेश में केवल 12 मेडिकल कॉलेज बने थे, आज प्रदेश में 35 नए मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं, जिसमें अमेठी का मेडिकल कॉलेज भी शामिल है, जिसका आज शिलान्यास किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिकल के क्षेत्र में कार्य करने वाले युवाओं को मेडिकल क्षेत्र में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराते हुए अमेठी को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य हब के रूप में विकसित करने का कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अमेठी में ट्रामा सेंटर, 200 शैय्या जिला रेफरल चिकित्सालय आदि का निर्माण कराया गया है। उन्होंने कहा कि अमेठी समग्र विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है।
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जूबिन इरानी ने कहा कि अमेठी वासियों के 40 साल पुराने सपने को साकार करते हुए अमेठी को मेडिकल कॉलेज का तोहफा दिया गया है। अमेठी में 03 लाख किसानों के खाते में सालाना 6000 की धनराशि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत दी गई। 2.5 लाख परिवारों को आयुष्मान गोल्डन कार्ड देकर साल में 05 लाख तक इलाज की सुविधा दी गई। 14 लाख गरीब परिवारों के सदस्यों को 19 महीने निःशुल्क राशन दिया गया।
कार्यक्रम को चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह (मोती सिंह), अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा, गन्ना विकास राज्य मंत्री सुरेश पासी ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
.