बासी आटे की रोटियां आपके स्वास्थ्य के लिए साबित हो सकती है धीमा जहर,जानिए इसके पीछे की वजह

0
171
.

 रोटी,चपाती या फुल्का भारतीय खाने का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। दिन का खाना हो या रात का डिनर हर घर में रोटी जरूर बनाई जाती है। इजी और फास्ट कुकिंग वाली लाइफ को देखते हुए आजकल लोग पहले से ही घर में गूंथा हुआ आटा रख लेते हैं और इसे फ्रिज में स्टोर कर दो-तीन दिन तक इसी आटे से रोटियां बनाते रहते हैं,

लेकिन सालों से हम सुनते हुए आ रहे हैं कि गूथे हुए आटे की रोटियां खाने से शरीर को नुकसान होता है। इसके पीछे की साइंटिफिक वजह क्या है और क्यों हमें बासी आटे की रोटियां नहीं बनानी चाहिए आइए जानते हैं

वैज्ञानिकों की मानें तो आटा गूंथते ही तुरंत इस्तेमाल करना चाहिए,वरना उसमें ऐसे रसायनिक बदलाव आते हैं, जो सेहत के लिए बहुत हानिकारक हो सकते हैं। आयुर्वेद में भी इसे नुकसानदायक बताया गया है।

कई बार होता है कि फ्रिज में रखे आटे में हल्का सा खट्टापन आ जाता है। ऐसे में आप उसकी रोटी बनाकर खाते हैं, तो उससे आपको फूड पॉइजनिंग हो सकता है। ऐसे में आप फ्रिज में रखे आटे के रोटियां बिल्कुल भी नहीं खाए।

बासी आटे की अपेक्षा ताजे आटे की रोटी ज्यादा स्वादिष्ट और पौष्टिक होती है और आपकी सेहत पर बुरा असर नहीं पड़ता। पुराना आटा खमीरा हो जाए और इसमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं।

डॉक्टर्स का मानना है कि आटे को बंद कर फ्रिज में रखा जाता है तो उसमें मौजूद बैक्टीरिया चिपक जाते हैं। साथ में उस में फफूंदी भी उत्पन्न हो सकती है, जिसकी वजह से आपके स्वास्थ्य को काफी नुकसान हो सकता है।

इसके साथ ही आटे को गूंथकर फ्रीज में रखने से फ्रीज की हानिकारक किरणें उसमें चली जाती है और उसे खराब कर देती है। जब इस तरह के आटे से रोटी बनाकर खाई जाती हैं तो ये आपको बीमार कर सकती है।

भारतीय शास्त्रों के अनुसार, जब घर में बचे हुए आटे को फ्रिज में रख दिया जाता है तो वह पिंड का रूप ले लेता है। जिससे घर में भूत-प्रेत आ जाते हैं।

.