सपनों को पूरा कर रही डबल इंजन सरकार, अब खेलेगा यूपी और जीतेगा यूपी- योगी

0
84
.

2 जनवरी को मेरठ में मेजर ध्यान चंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास करेंगे प्रधानमंत्री

फर्स्ट आई न्यूज डेस्क:

लखनऊ: युवाओं को खेलों में अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर अपना जौहर दिखाने के लिए मेजर ध्यान चंद खेल विश्वविद्यालय मील का पत्थर साबित होने वाला है। इससे युवाओं को खेलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने का मौका मिलेगा और खेलेगा यूपी, जीतेगा यूपी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सात सौ करोड़ की लागत से मेरठ के सरधना तहसील के सलावा में प्रदेश के पहले मेजर ध्यान चंद खेल विश्वविद्यालय की घोषणा की है और दो जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका शिलान्यास करने जा रहे हैं। विश्वविद्यालय में युवाओं को सभी प्रकार के खेलों का शिक्षण-प्रशिक्षण दिया जाएगा और राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के आधार पर स्नातक की डिग्री दी जाएगी।

खिलाड़ियों को दी जा रही सरकारी नौकरी

सीएम के निर्देश पर पुलिस में खिलाड़ियों को नौकरी देने के लिए गृह विभाग की ओर से नीति बनाई जा रही है और जल्द जारी होने की उम्मीद है। हाल ही में नया पद सृजित कर प्रदेश में पहली बार भारतीय पुरुष हाकी टीम के सदस्य ललित कुमार उपाध्याय को पुलिस विभाग में पुलिस उपाधीक्षक के समकक्ष विशेष कार्याधिकारी के पद पर नियुक्त किया गया है। सीएम योगी ने कुश्ती और एक अन्य खेल को भी गोद लिया है।

खिलाड़ियों की डाइट मनी और पदक जीतने पर राशि भी बढ़ाई

सीएम योगी प्रदेश में खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए हाल ही में खिलाड़ियों की डाइट मनी ढाई सौ रुपए से 375 रुपए बढाया है। पहले राष्ट्रीय चैंपियनशिप जीतने पर 50 हजार रुपए दिए जाते थे, जिसे सीएम योगी ने बढ़ाकर 10 लाख रुपए किया है। इसके अलावा उन्होंने 50 अंतरराष्ट्रीय स्तर के कोच रखने के निर्देश दिए हैं। साथ ही खेल विभाग में 266 पदों पर नियुक्ति के आदेश दिए हैं। इसमें 16 क्रीडा अधिकारी, 100 उप क्रीडा अधिकारी, डेढ़ सहायक प्रशिक्षक शामिल हैं।

ग्रामीण स्टेडियमों का निर्माण और ओपेन जिम की कराई जा रही स्थापना

सरकार युवाओं और खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर पर कई योजनाएं चला रही है। सरकार ग्रामीण स्टेडियमों का निर्माण और ओपेन जिम की स्थापना करा रही है। खेलों के विकास और उदीयमान खिलाड़ियों को बेहतर प्रशिक्षण के लिए निजी सहभागिता से खेल अकादमियों को विकसित किए जाने की नीति प्रख्यापित की गई है।

.