लखीमपुर हिंसा काण्ड—भाजपा की तरफ से वादी सुमित जायसवाल की तलाश तेज

0
196
.

डेस्क न्यूज। 3 अक्टूबर को लखीमपुर तिकुनिया में किसानों को कुचले जाने के बाद भड़की हिंसा के चार और लोगों की पीट-पीट कर हत्या मामले में पुलिस केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के लड़के आशीष मिश्र की गिरफ्तारी के बाद उसके साथ मौजूद भाजपा नेता सुमित जायसवाल को तलाश रही है।

सुमित जायसवाल थार जीप में बैठा था, जो घटना के बाद भीड़ के हमलावर होने के बाद मौके से जान बचाकर भागने की बात कही थी और उसकी ही तहरीर पर पुलिस ने उग्र भीड़ के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

दूसरी तरफ बुधवार को अंकित दास के क्राइम ब्रांच के सामने पेश होने के बाद क्राइम ब्रांच की पूरी टीम सुमित जायसवाल की तलाश तेज कर दी है। वैसे मंगलवार को अंकित दास के साथ उसके सुरक्षा गार्ड व चालक लतीफ ने भी कोर्ट में सरेंडर एप्लीकेशन डाली थी।

जिसके बाद बुधवार को नटकीय ठंग से दोनों क्राइम ब्रांच के दफ्तर पेश हो गए। सूत्रों की मानें तो पुलिस अब यह जानने की कोशिश कर रही है कि आशीष मिश्रा घटनास्थल पर मौजूद था तो किस गाड़ी में था। काफिले में थार के पीछे रही फॉर्च्यूनर में बैठे शेखर का वीडियो वायरल हुआ था। जिसे पुलिस ने 12 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया था।

हिंसा में मारे गए किसान, भाजपा कार्यकताओं व पत्रकार के परिजनों को भी नोटिस
लखीमपुर हिंसा की जांच कर रही एसआईटी टीम ने हिंसा में मारे गई किसान, भाजपा कार्यकर्ताओं व पत्रकार के परिजनों को तामीला नोटिस जारी किया है। जिसमें एसआईटी टीम ने उन्हें क्राइम ब्रांच के आफिस में आकर अपने बयान दर्ज कराने को कहा है।

अभी तक किसी भी तरफ से मुकदमा दर्ज होने के बाद पीड़ित पक्ष बयान दर्ज कराने नहीं पहुंचा है। इसके साथ ही पुलिस ने घटना स्थल पर मौजूद करीब दो दर्जन लोगों को चिन्हित कर बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस जारी किया है।

.