कोरोना मरीजों को अस्पताल में परोसा जा रहा खराब खाना, मरीजों ने दी भूख हड़ताल की धमकी

0
22
prayagraj

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में  सरकारी अस्पताल की लापरवाही का मामला सामने आया है। दरअसल प्रयागराज में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के इलाज के लिए कोविड-19 लेवल वन कोटवा बनी अस्पताल में खराब खाने को लेकर एडमिट कोरोना मरीजों ने नारजगी जताई है। कोटवा बनी अस्पताल में भर्ती मरीजों ने अनको परोसे जा रहे खाने की गुणवत्ता पर सवाल खड़े किए हैं। मरीजों ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो डाला है जिसमों वो धमकी दे रहे हैं।

उनका कहना है कि खाने की क्वालिटी बिलकुल अच्छी नहीं है। मरीजों ने अस्पताल के बरामदे में नारेबाजी की। इसके साथ ही मरीजों ने ये भी आरोप लगाया है कि सीएम योगी जिस तरह से कोरोना मरीजों को पौष्टिक भोजन देने की बात कर रहे हैं, यहां पर उन मानकों का पालन नहीं हो रहा है। मरीजों के मुताबिक उन्हें कच्चा खाना दिया जा रहा है जो कि खाने लायक नहीं है। साशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो पुराना बताया जा रहा है।

चीन के खिलाफ प्रतिशोध के लिए भारत का पहला कदम, चीनी कंमपनियों का होगा पत्ता साफ

वीडियो के वायरल होने के बाद सीएमओ डॉ जीएस बाजपेई ने अपनी सफाई पेश की है। उन्होंने कहा है कि कोटवा बनी में भर्ती कोरोना पॉजिटिव मरीजों को सीएम योगी के निर्देशों के मुताबिक ही पौष्टिक और सुपाच्य भोजन मुहैया कराया जा रहा है। उन्होंने स्वीकार किया है कि खाने में एक दिन सब्जी रिपीट होने की वजह से मरीजों ने कुछ नाराजग जरुर व्यक्त की थी। जिसके बाद खाने का मीन्यू चार्ट तैयार कर दिया गया है। अब उसी अनुसार उन्हें खाना मिलेगा।

सीएमओ के मुताबिक कुछ मरीजों ने काढ़ा दिए जाने के बदले चाय पीने की इच्छा जतायी थी। जिसके बाद उन्हें चाय भी मिल रही है। सीएमओ ने बताया कि कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों से फीड बैक लेकर कमियों को समय-समय पर दूर भी कराते रहते हैं।

सीएमओ ने इस बात को स्वीकारा है कि मरीजों को समस्या हुई थी लेकिन इन घटनाओं पर हमने ध्यान दिया है। गौरतलब है कि 28 मई को भी कोविड-19 लेवल वन अस्पताल में ताजा पानी न मिलने को लेकर अस्पताल में भर्ती मरीजों ने हंगामा किया था। जिसका वीडियो वायरल होने के बाद खूब हंगामा हुआ था। इस मामले की गूंज लखनऊ तक भी पहुंची थी और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी ट्वीट कर योगी सरकार की व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े कर दिए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here