उपग्रह से ली तस्वीरों में दिखा, गलवान नदी पर बांध बना रहा चीन

0
14
zhao-lijia-99

बीजिंग15 जून का वो दिन और हमारे 20 जवानों की शहादत कोई भूल नहीं पाएगा। उनकी शहादत का बदला जरूर लिया जाएगा। चीन के गंदे इरादों को भारत कभी पूरा नहीं होने देगा। पीएम मोदी ने भी अपने संबोधन में कहा कि हमारे जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी।

भारतीय सैनिकों पर 15 जून को लोहे की छड़ों और कंटीली तार से लपटे डंडों से हमला करने से जुड़े सवालों पर चीन लगातार भारत को दोषी करार कर रहा है। चीन ने न सिर्फ इस झड़प से जुड़े सवालों का जवाब देने से इनकार कर दिया बल्कि गलवान नदी पर बनाए जा रहे बांध से जुड़ा एक सवा भी टाल दिया है। बतादें कि चीन ने ये भी कहा है कि भारत के साथ सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर बातचीत जारी है, हम किसी भी तरह से मामले को निपटाने में पूरी तरह सक्षम हैं।

18_06_2020-galwan_river1_20407684
गुरुवार को चीनी विदेश मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ़्रेंस में समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चाओ लिजियान से भारतीय सेना के एक कर्नल और अन्य सैनिकों पर चीन के सैनिकों द्वारा कील लगे लोहे की रॉड से हमला करने से जुड़ा एक सवाल पूछा था इस सवाल के जवाब में चाओ ने कहा, कि हमने इस पर साफ़ बता दिया है कि मामला कैसे शुरू हुआ था। उन्होंने बताया कि सोमवार रात भारत-चीन सीमा पर तैनात भारत के सुरक्षा बलों ने दोनों देशों में कमांडर स्तर पर हुई बातचीत के बाद बनी सहमति को तोड़ दिया था। भारतीय सैनिक लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पार कर गए और चीन के सैनिकों को उकसाना शुरू कर दिया। इसके बाद आमने-सामने झड़प हुई और देखते-देखते ये हिंसा में तब्दील हो गई। चीन ने भारत से मांग की है कि भारत पूरे मामले की जांच करे और जो ज़िम्मेदार हैं उन्हें सज़ा दे।’

भारत मारेगा चीन को कारोबारी चोट, यूपी पुलिस ने मोबाइल से ‘Remove China apps’ का दिया आदेश
बांध पर चीन ने साधी चुप्पी
16 जून को उपग्रह से ली गई उन तस्वीरों के बारे में जब झाओ से पूछा गया कि चीन गलवान नदी पर बांध बनाकर उसके पानी के प्रवाह को रोकते हुए दिख रहा है और साथ ही यह पूछा गया कि क्या उसने भारत के साथ किसी समझौते का उल्लंघन किया है? तो झाओ ने कहा, ‘आपने जिन बातों का जिक्र कर रहे हैं मुझे उनकी जानकारी नहीं है।’ झाओ ने विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी के बीच बुधवार को टेलीफोन पर हुई बातचीत का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि बातचीत के दौरान ‘दोनों पक्ष संघर्ष से पैदा हुई गंभीर स्थिति से न्यायपूर्ण तरीके से निपटने पर राजी हुए और कमांडर स्तर की बैठक में बनी सहमति पर संयुक्त रूप से रजामंद हुए कि जल्द से जल्द तनाव को कम किया जाएगा।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here