CM योगी ने समीक्षा बैठक में सभी जिलाधिकारियों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को दिए सख्त निर्देश

0
56
Press (3)

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए सभी जिलाधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को कार्ययोजना बनाकर मेडिकल स्क्रीनिंग का वृहद अभियान दिए। संचालित करने के निर्देश उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी सर्वे के माध्यम से स्क्रीनिंग का कार्य किया जाए।इसके लिए टीमों की संख्या में वृद्धि करते हुए लगभग 1 लाख से अधिक टीम गठित कर मेडिकल स्क्रीनिंग की कार्यवाही की जाए। स्क्रीनिंग में संदिग्ध पाए गए व्यक्तियों के उपचार की पूरी व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए।

सीएम योगी ने कहा कि ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में प्रत्येक सप्ताह टीम द्वारा निर्धारित क्षेत्रों में स्क्रीनिंग होनी चाहिए। स्क्रीनिंग टीम को पल्स क्सीमीटर, इंफ्रारेड थर्मामीटर तथा सेनिटाइजर आदि अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराए जाएं। कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना के काम को तेज करने का निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रियों द्वारा कोविड हेल्प डेस्क का निरीक्षण किया जाए। इसी प्रकार अपर मुख्य सचिव गृह तथा पुलिस महानिदेशक, पुलिस विभाग के विभिन्न संस्थानों में स्थापित कोविड हेल्प डेस्क की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करें।

एक बार घर में ये पौधा लाएं और मच्छर की एंट्री हमेशा के लिए करे बंद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 25 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में वैकल्पिक टेस्टिंग व्यवस्था के तहत एन्टीजेन टेस्ट आदि को आवश्यकतानुसार अपनाए जाने पर विचार हो। कोविड अस्पतालों में बेड क्षमता का विस्तार करते हुए डेढ़ लाख बेड की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

सीएम योगी ने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती रोगियों को निश्चित समय पर दवा, भोजन तथा नाश्ता आदि उपलब्ध कराया जाए। मरीजों को पीने के लिए गुनगुने पानी की व्यवस्था की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि डॉक्टर तथा नर्सिंग स्टाफ नियमित राउण्ड लें। मरीजों की निरन्तर मॉनिटरिंग की जाए।

कोरोना की दवा लॉन्च करने के बाद ग्लेनमार्क फार्मा के शेयर में आई जबरदस्त तेजी, निवेशकों ने की जमकर कमाई

सीएम ने निर्देशित करते हुए कहा कि चिकित्सालयों के होल्डिंग एरिया में भीड़ एकत्र न हो। उन्होंने कहा कि चिकित्साकर्मियों को मेडिकल इंफेक्शन से सुरक्षित रखने के लिए पूरी सावधानी बरती जाए। अस्पतालों में पी.पी.ई किट, एन-95 मास्क, ग्लव्स, सेनिटाइजर आदि की सुचारु व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, थाना, ब्लॉक, तहसील, कलेक्ट्रेट, सरकारी राशन की दुकान सहित ऐसे सभी स्थान जहां लोगों का आना-जाना हो, वहां कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव के सम्बन्ध में होर्डिंग तथा पोस्टर लगाकर जनता को जागरूक किया जाए। उन्होंने टेलीविजन तथा रेडियो आदि माध्यम से भी आमजन को इस सम्बन्ध में जागरूक किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना से बचाव तथा उपचार हेतु की गई व्यवस्था की जानकारी भी लोगों को दी जाए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here