‘नेपोटिज़्म’ का शिकार सिर्फ कलाकार ही नहीं, सोनू के बाद अदनान सामी ने बताया म्यूज़िक माफ़ियाओं का गंदा सच

0
57
adnam sami
.

नई दिल्ली। बॉलीवुड के मशहूर एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज़्म का मुद्दा तेजी से गरमाया हुआ है। कई फिल्म निर्माताओं और अभिनेताओं की गंदी नियत पर से पर्दा उठा है और बॉलीवुड़ में कैसे लोग शोषण का शिकार होते हैं ये सच भी अब सबके सामने आ चुका है। बता दें कि अभी तक तो नेपोटिज़्म का मुद्दा केवल फ़िल्मों और कलाकारों तक सीमित था,  लेकिन सोनू निगम इसे म्यूज़िक इंडस्ट्री तक खीच लाए हैं। सोनू ने एक वीडियो पोस्ट करके आगाह किया था कि म्यूज़िक इंडस्ट्री में भी ऐसे माफ़िया हैं, जो उभरते गायकों को आगे नहीं आने देते हैं।

अब सिंगर अदनान सामी ने इस मुद्दे को आगे  ले जाते हुए म्यूज़िक इंडस्ट्री में हो रही कुछ खास लोगों की मनमानी पर तीखा हमला किया है। अपने ज़माने की लोकप्रिय पॉप गायिका अली चिनॉय ने अदनान की बात पर रज़ामंदगी जताते हुए म्यूज़िक इंडस्ट्री को ज़हरीला बताया है।

आपको बता दें कि सिंगर अदनान सामी ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट लिखा,  जिसमें उन्होंने कई सवाल उठाते हुऐ लिखा- भारतीय फ़िल्म और संगीत इंडस्ट्री को एक गंभीर और बड़े बदलाव की ज़रूरत है। ख़ासकर, संगीत, नये गायक, दिग्गज गायक, म्यूज़िक कंपोज़र और म्यूज़िक प्रोड्यूसर के संदर्भ में, जिन्हें कुछ लोग आख़िरी छोर तक उत्पीड़ित कर रहे हैं। इनकी बात मानो या फिर बाहर हो जाओ। रचनात्मकता को ऐसे लोग नियंत्रित कर रहे हैं, जिन्हें इसकी समझ ही नहीं है और वो लोग भगवान बने हुए हैं?”

tweet

जाने माने सिंगर अदनान सामी संगीत को रीमिक्स और रीमेक की सीमाओं में बांधने पर गुस्सा और नाराजगी जताते हुए लिखते हैं कि, ”हम 130 करोड़ लोगों का देश हैं, लेकिन मिलता क्या है, रीमेक और रीमिक्स? भगवान के लिए, इसको बंद कीजिए और काबिल और बेहतरीन कलाकारों को सांस लेने दीजिए और उन्हें संगीत और सिनेमा में रचनात्मक शांति देने दीजिए।”

कोरोना काल के बीच इंटरनेशनल क्रिकेट लौटा, इंग्लैंड खिलाड़ी पहनेंगे इस शख्स के नाम की जर्सी

उनका कहने का मतलब बिलकुल साफ है कि सिर्फ फिल्मों में ही ये गंदगी नहीं है बल्कि म्यूज़िक की दुनिया में भी  कीचड़ भरता जा रहा है। अदनान सामी ने सवाल उठाते हुए कहा कि, ‘क्या मूवी और म्यूज़िक माफ़िया, जो स्वयंभू भगवान बने हुए हैं,  उन्होंने इतिहास से कुछ नही सीखा है? कि आप कला को नियंत्रित नहीं कर सकते  हैं। बहुत हुआ! आगे बढ़िए! बदलाव आ रहा है और यह आपके दरवाज़े पर खड़ा है। आप तैयार हैं या नहीं, लेकिन यह आकर रहेगा। ख़ुद को आप बांध लीजिए। अब्राहम लिंकन ने कहा है कि आप कुछ वक़्त तक कुछ लोगों को बेवकूफ़ बना सकते हैं, लेकिन हमेशा सभी लोगों को बेवकूफ़ नहीं बना सकते हैं।

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोविंद चौधरी करोना पॉजिटिव, SGPGI में भर्ती

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here