योग गुरु बाबा रामदेव और अचार्य बालकृष्ण के  खिलाफ जयपुर में FIR दर्ज

0
11
ramdev

जयपुर। कोरोना वायरस ने पूरे देश में मुसीबत का माहौल बना कर रखा है। हर रोज बढ़ते मामले चिंता का विषय बने हुए हैं। पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। दुनियाभर के डॉक्टर कोरोना का इलाज खोजने में व्यस्त हैं लेकिन अभी तक कोई इलाज निकाल नहीं पाया है। इसी बीच बाबा रामदेव ने पतंजलि की कोरोना वायरस की दवाई लॉन्च की थी। जिसके बाद आयुष मंत्रालय ने दवाई की बिक्री पर रोक लगा दी है।

महिला एवं बाल विकास विभाग ने 1027 कर्मचारियों को नौकरी से किया बेदखल

बाबा रामदेव ने दावा किया था कि उनकी ये दवा कोरोना का इलाज करने में सौ फीसदी कारगर है। लेकिन उसके कुछ समय बाद ही उनपर कई आरोप भी लगाए गए। आपको बतादें कि राजस्थान में बाबा रामदेव के खिलाफ एक बार फिर से FIR दर्ज हुई है। सूत्रों के मुताबिक, बाबा रामदेव के खिलाफ जयपुर के ज्योतिनगर थाने में मामला दर्ज हुआ है। आपको बतादें कि एफआईआर में का नाम शामिल है।

सोते समय 8 साल की बच्ची को किया किडनैप, इलाके में मचा हड़कंप

बाबा रामदेव, दिव्य फार्मेसी के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्ण और पतंजली रिसर्च इस्टीट्युट के वरिष्ठ वैज्ञानिक अनुराग वाष्णेर्य के अलावा डॉ. बलवीर सिंह तोमर व डॉ.अनुराग सिंह तोमर के खिलाफ एडवोकेट बलराम जाखड़ और अंकित कपूर नाम के शख्स ने ज्योति नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इन्होंने एफआईआर में आरोप लगाया है कि महामारी के दौरान लोगों को धोखा देकर, फर्जी दवाई बनाकर अरबों रुपए कमाने के आशय से आरोपियों ने योजनाबद्ध तरीके से सभी टीवी चैनल्स पर कोविड-19 की दवा कोरोनिल बना लेने का दावा किया है। यह धारा 188, 420, 467, 120बी, भादस संगठित धारा 3, 4, राजस्थान एपीडेमिक डिजीज ऑर्डिनेंस 2020, धारा 54, आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं धारा 4/7  और ड्रग्स एंड मेजिक रेमेडीज एक्ट 1954 के अधीन दंडनीय अपराध है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here