1984 दंगों के सह-आरोपी महेंद्र यादव की जमानत याचिका खारिज, कोरोना से हैं संक्रमित

0
35
.
  • महेंद्र यादव की जमानत याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी
  • महेंद्र यादव ने इलाज करवाने के लिए कोर्ट से जमानत मांगी थी

1984 दंगों के सह-आरोपी और पूर्व विधायक महेंद्र यादव की जमानत याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है. महेंद्र यादव ने इलाज करवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट से जमानत मांगी थी. आरोपी पूर्व विधायक महेंद्र यादव ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत अर्जी में कहा है कि वो कोरोना से संक्रमित हैं और उनका इलाज एलएनजेपी अस्पताल में चल रहा है.

यादव ने कोर्ट से कोरोना का बेहतर इलाज करवाने के लिए जमानत याचिका मांगी थी. सुप्रीम कोर्ट ने आरोपी पूर्व विधायक महेंद्र यादव की जमानत अर्जी खरिज करते हुए कहा कि उनका दिल्ली में पहले ही अच्छी जगह इलाज चल रहा है.

1984 दंगों में हुई थी जांच

1984 दंगों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने 2015 में स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का गठन किया था, जिससे करीब 60 केस फिर से खोले गए थे. एसआईटी जांच के बाद से कोर्ट की ओर से यह पहली सजा सुनाई गई थी.

इससे पहले 1984 सिख विरोधी दंगों के दंगाइयों में से एक कसाई किशोरी लाल को 1996 में फांसी दी गई थी. उस पर 5 दंगों में शामिल होने के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई थी. हालांकि, बाद में उसे उम्रकैद में बदल दिया गया था.

Authors

.