Governments GST collection continuously declines, figure below 91 thousand crores-मोदी सरकार को जीएसटी से हुई 90,917 करोड़ रुपये की कमाई

0
3

नई दिल्ली :

Coronavirus (Covid-19): कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की वजह से कंपनियों का परिचालन ठप होने से अर्थव्यवस्था (Economy) में पहले से ही जारी नरमी के कारण माल एवं सेवा कर (GST Collection) संग्रह में गिरावट दर्ज की जा रही है. हालांकि मई और अप्रैल के मुकाबले जून में जीएसटी कलेक्शन में सुधार देखने को मिला है. केंद्रीय वित्त मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक जून के कुल 90,917 करोड़ रुपये के जीएसटी कलेक्शन में से केंद्रीय जीएसटी (CGST) का हिस्सा 18,980 करोड़ रुपये रहा है, जबकि राज्य जीएसटी (SGST) संग्रह 23,970 करोड़ रुपये रहा है.

यह भी पढ़ें: एयरटेल के शेयर धारकों के लिए बड़ी खबर, कार्लाइल समूह खरीद रहा है 25 फीसदी हिस्सा

सरकार का IGST कलेक्शन 40,302 करोड़ रुपये
एकीकृत जीएसटी (IGST) संग्रह 40,302 करोड़ रुपये रहा है जिसमें से 15,709 करोड़ रुपये आयात पर लगे शुल्क से मिले है. बता दें कि जीएसटी सेस के जरिए केंद्र सरकार को 7,665 करोड़ रुपये की आय हुई है, इसमें 607 करोड़ रुपये का सेस वस्तुओं के इंपोर्ट से मिला है. आंकड़ों के मुताबिक मई के दौरान सरकार को जीएसटी से 62,009 करोड़ रुपये का राजस्व संग्रह हुआ था, जबकि अप्रैल में 32,294 करोड़ रुपये का राजस्व संग्रह हुआ था.

यह भी पढ़ें: वोडाफोन आइडिया ने बना दिया घाटे का रिकॉर्ड, आंकड़े सुनकर दंग रह जाएंगे

अब SMS के जरिये फाइल कर सकते हैं GST रिटर्न
मोदी सरकार (Modi Government) ने टैक्स भरने वालों को राहत देने के लिए एक नई सुविधा शुरू की है. अब आप अपना मासिक जीएसटी रिटर्न एसएमएस के जरिये भी भर सकते हैं, लेकिन ये सुविधा सभी के लिए नहीं होगी, बल्कि शून्य जीएसटी (GST) होने पर ही मासिक रिटर्न एसएमएस के जरिये जमा किया जा सकेगा. वे करदाता जो शून्य जीएसटी रिटर्न भरते थे उन्हें जीएसटीआर-3 बी (GSTR-3 B) फॉर्म भरने की जरूरत नहीं होगी. नए प्रावधान से करीब 22 लाख करदाताओं को लाभ पहुंचेगा. वित्त मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति में कहा कि करदाताओं की सुविधा की दिशा में एक बड़ा कदम उठाते हुए मोदी सरकार ने शनिवार को एसएमएस के जरिए FORM GSTR-3B में NIL GST मासिक रिटर्न दाखिल करने की मंजूरी दी है.




Source link