Boys Locker Room Instagram Chat Group of Teenagers Glorifying Gang Rape chat viral on social media

0
71

शेयर किए गए गए चैट में एक लड़का ग्रुप के सभी लड़कों को एक लड़की के साथ गैंगरेप करने करने लिए उकसा रहा है. बताया जा रहा है कि इस ग्रुप के अधिकत्तर लड़के 17 से 18 साल के बीच है, वहीं ये सभी दक्षिण दिल्ली के रहने वाले बताए जा रहे है.

cyber crime

Cirme Against Women (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

नई दिल्ली:

इस समय पूरी दुनिया के सामने महामारी कोरोना वायरस के रूप में एक गंभीर और बहुत बड़ी परेशानी सामने है. लेकिन ऐसे वक्त में भी महिलाओं से जुड़े अपराध थमने का नाम नहीं ले रही है. ऐसा ही एक भयावह मामला सोशल मीडिया के जरीए सामने आया है. दरअसल, एक ट्विटर यूजर ने हाल ही में इंस्टाग्राम ग्रुप चैट शेयर किया है. जिसे पढ़कर हर कोई दंग और हैरान है.

शेयर किए गए गए चैट में एक लड़का ग्रुप के सभी लड़कों को एक लड़की के साथ गैंगरेप करने करने लिए उकसा रहा है. बताया जा रहा है कि इस ग्रुप के अधिकत्तर लड़के 17 से 18 साल के बीच है, वहीं ये सभी दक्षिण दिल्ली के रहने वाले बताए जा रहे है.

ट्वीट में लिखा गया है कि दक्षिण दिल्ली के 17-18 साल के लड़के ‘ब्वॉयज लॉकर रूम’ ग्रुप चैट में अपनी उम्र की लड़कियों की तस्वीरों को मॉर्फ करने की बात कर रहे है. इसमें से दो लड़के मेरे स्कूल के हैं. इस ट्वीट में लड़की ने ग्रुप में शामिल लोगों का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है.

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन के दौरान महिलाओं के खिलाफ साइबर अपराध की घटनाएं बढ़ीं : विशेषज्ञ

LatestLY न्यूज वेबसाइइट के मुताबिक, इंस्टाग्राम पर ग्रुप चैट ‘ब्यॉज लॉकर रूम’ के नाम से इंस्टाग्राम और स्नैपचैट पर इस तरह के कई कथित ग्रुप हैं, जिसपर कई आपराधिक विचारों भरी बातें की जा रही थी. इस ग्रुप पर न सिर्फ लड़की के लिए आपत्तिजनक बातें की जा रही थी बल्कि उसके तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर के उस बदनाम करने की साजिश भी की जा रही थी. बताया जा रहा है कि इस ग्रुप के दो लड़के उसी लड़की के साथ एक ही स्कूल में पढ़ते है.

सोशल मीडिया पर ये ट्वीट काफी वायरल हो रही है वहीं लोग इसके खिलाफ अपनी प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं. वहीं लोग अब दिल्ली पुलिस से इस मामले के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की भी मांग कर रहे हैं. लेकिन बताया जा रहा है कि पुलिस ने अबतक इसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया है.

बता दें कि विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वायरस (CoronaVirus Covid-19) को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के दौरान महिलाओं के खिलाफ साइबर अपराध काफी हद तक बढ़े हैं खासतौर से यौन शोषण जैसे अपराध जिनमें ‘घरों में कैद अपराधी’ उन्हें ऑनलाइन निशाना बना रहे हैं. राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) के आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल में साइबर अपराध की 54 शिकायतें मिलीं जबकि मार्च में 37 और फरवरी में 21 शिकायतें मिली थी. लॉकडाउन के कारण ऑनलाइन शिकायतें प्राप्त की जा रही हैं.


First Published : 04 May 2020, 01:06:08 PM

For all the Latest Viral News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link