ऐप बैन पर बोलीं निकी हेली- भारत ने दिखाया, वो चीन के रवैये के आगे झुकेगा नहीं

0
74
.
  • चीनी ऐप्स बैन पर निकी हेली का बयान
  • भारत का फैसला सख्त संदेश वाला: हेली

भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर जारी विवाद का असर अब दोनों देशों के संबंधों में दिखने लगा है. सुरक्षा का हवाला देकर भारत सरकार ने चीन की 59 मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया है. इस सख्त फैसले का अमेरिका में जमकर स्वागत हो रहा है. पहले विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने बयान दिया और अब भारतीय मूल की अमेरिकी नेता निकी हेली ने भी प्रशंसा की है.

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की प्रतिनिधि रह चुकीं निकी हेली ने इस विवाद पर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि भारत ने 59 चीनी ऐप को बैन कर दिया, ये जानकर खुशी हुई. इनमें टिकटॉक भी था, जो भारत में बड़ा मार्केट रखती है.

निकी हेली ने आगे लिखा कि भारत लगातार दिखा रहा है कि वह चीन के आक्रामक रवैये के आगे झुकने वाला नहीं है.

आपको बता दें कि निकी हेली से पहले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भी इस मसले पर बयान दे चुके हैं.

पोम्पियो ने कहा था कि भारत का फैसला स्वागत योग्य है, क्योंकि ये ऐप्स सुरक्षा के लिहाज से बड़ा खतरा हैं. और भारत ने अपनी सुरक्षा को देखते हुए ये फैसला लिया है.

चीन ने माना- टिक टॉक बैन होने से होगा अरबों डॉलर का नुकसान

बता दें कि भारत के द्वारा ऐप्स बैन किए जाने के कुछ वक्त बाद अमेरिका ने भी चीन की दो कंपनियों पर बैन लगा दिया. अमेरिका ने हुवावेई के अलावा एक और कंपनी को सुरक्षा के लिहाज से खतरा बताया और किसी भी सरकारी कॉन्ट्रैक्ट से इन्हें दूर कर दिया.

गौरतलब है कि भारत सरकार ने टिकटॉक, वी-चैट समेत 59 ऐप्स को बैन किया है. आर्थिक तौर पर भले ही चीन को इससे कोई बहुत बड़ा नुकसान ना हो, लेकिन एक कड़ा संदेश गया है. क्योंकि भारत के इस फैसले के बाद कई और देश इस तरह का फैसला ले सकते हैं.

Authors

.