कानपुर एनकाउंटर मामलाः FB पर दुबे का किया महिमामंडन, अब युवती के खिलाफ FIR दर्ज | kanpur – News in Hindi

0
118
कानपुर एनकाउंटर मामलाः FB पर दुबे का किया महिमामंडन, अब युवती के खिलाफ FIR दर्ज

यूपी पुलिस की 100 टीमें भगोड़े हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की जोर-शोर से तलाश कर रही हैं (फाइल फोटो)

आरोपी युवती ने फेसबुक (Facebook) पर पोस्ट डाल कर विकास दुबे की हरकत को सही ठहराया था, जिसके बाद पुलिस ने सख्त कार्रवाई की है.

कानपुर. उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) के आठ कर्मियों की हत्या के आरोपी हिस्ट्रीशीटर अपराधी (Historysheeter Criminal) विकास दुबे (Vikas Dubey) का समर्थन करने पर पुलिस ने एक युवती के विरुद्ध एफआईआर (FIR) दर्ज की है. इस युवती ने फेसबुक पर अपने पोस्ट (Facebook Post) में इन पुलिसकर्मियों की हत्या को सही ठहराया है. युवती ने फेसबुक (Facebook) पर भगोड़े विकास दुबे को ब्राह्मणों का शेर बताते हुए उसका जयकारा लगाया है. युवती ने अपने पोस्ट में लिखा, ‘पूरे उत्तर प्रदेश के शासन-प्रशासन को अकेले हिला देने वाला ब्राह्मण शेर विकास दुबे का अभिनंदन है, मेरी ओर से. दुनिया चाहे कुछ भी समझे…’

इतना ही नहीं कुछ अन्य यूजर्स ने भी इस जघन्य कृत्य के लिए आरोपी विकास दुबे का गुणगान किया है. एक यूजर ने पुलिसकर्मियों की हत्या को जायज ठहराते हुे लिखा, ‘जब तक पुलिस का अत्याचार आम जनता पर बंद नहीं होगा ऐसी ही घटनाएं होती रहेंगी.’

युवती की ओर से फेसबुक पर डाला गया पोस्ट.

इस मामले में फजलगंज कोतवाली पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पोस्ट लिखने वाली युवती पर एफआईआर दर्ज किया है. पुलिस अब इस आरोपी युवती की तलाश कर रही है.प्रशासन ने भगोड़े विकास दुबे के घर पर चलाया बुलडोजर

इससे पहले शनिवार को दिन में प्रशासन के दस्ते ने जेसीबी से विकास दुबे के किलेनुमा घर को ढहा दिया. सबसे पहले घर की बाउंड्री वॉल को तोड़ा गया फिर उसके मकान पर बुलडोजर चला. जिस जेसीबी मशीन से उसके घर को ढहाया गया वो आरोपी विकास दुबे का ही है. इस दौरान प्रवर्तन दस्ते के साथ भारी पुलिस बल भी गांव में मौजूद रहा. कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि अपराधी विकास दुबे का घर गैर-कानूनी तरह से बनाया गया था. यहां रहकर वो अपने गुर्गों के माध्यम से अपराधिक वारदातों को संचालित करता था.

बता दें कि गुरुवार देर रात पुलिस की टीम विकास दुबे की गिरफ्तारी की लिए बिकरू गांव गई थी. लेकिन पुलिसबल के उसके घर के पास पहुंचने से पहले घात लगाकर किए गए हमले में एक डीएसपी, एक सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए. जबकि सात गंभीर रूप से जख्मी हो गए. घायल जवानों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. इतनी बड़ी वारदात को अंजाम देने के बाद अपराधी पुलिस की एके 47, इंसास रायफल, ग्लॉक पिस्टल और 99 एमएम पिस्टल लूटकर फरार हो गए. पुलिस की 100 टीमें विकास दुबे की जोर-शोर से तलाश कर रही हैं. एसटीएफ उसे दबोचने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है.

First published: July 4, 2020, 9:27 PM IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here