बिल्डिंग में अकेले तैनात था पुलिसकर्मी, इस परेशानी के चलते खुद को गोली से उड़ाया Policeman shot himself in Kolkata’s Writers’ Building

0
123
.

पश्चिम बंगाल के पुराना सचिवालय यानी राइटर्स बिल्डिंग में शुक्रवार को एक पुलिस कांस्टेबल ने ड्यूटी के दौरान अपनी सर्विस राइफल से खुद पर गोली चलाकर अपनी जान दे दी.

Suicide

कोलकाता के राइटर्स बिल्डिंग में पुलिसकर्मी ने खुद को गोली से उड़ाया (Photo Credit: फाइल फोटो)

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पुराना सचिवालय यानी राइटर्स बिल्डिंग में शुक्रवार को कोलकाता पुलिस के एक कांस्टेबल ने अपनी सर्विस राइफल से कथित तौर पर गोली मारकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, विश्वजीत कारक (34) गेट नंबर 6 पर अकेला ही तैनात था. दोपहर बाद लगभग 3.30 बजे उसने गोली चलाकर खुद को खत्म कर लिया. कांस्टेबल बिश्वजीत कारक कोलकाता पुलिस की पांचवीं बटालियन का जवान था.

यह भी पढ़ें: अमेरिकी दूतावास के पास अनियंत्रित कार की टक्कर से एएसआई की मौत

बता दें कि इस भवन में पहले राज्य सचिवालय था. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 2013 में सचिवालय यहां से हटाकर हुगली नदी के दूसरे किनारे स्थित नबन्ना के 14वें तल पर ले गई थीं. पुलिसकर्मी जिस छह नंबर गेट पर तैनात था, उसका इस्तेमाल वर्तमान में कुछ वरिष्ठ मंत्रियों सहित वीवीआईपी भवन में प्रवेश करने के लिए करते थे. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वह तनावग्रस्त था और दवाइयों पर निर्भर था.

अधिकारियों ने बताया कि उसकी शिफ्ट दोपहर ढाई बजे शुरू हुई थी और वह प्रेस कॉर्नर के सामने दरवाजे के अंतिम छोर पर एक कुर्सी पर बैठा था. इसी दौरान उसने खुद को गोली मार ली. पुलिस उपायुक्त ने घटनास्थल का मुआयना किया. उन्होंने कहा कि लहूलुहान कांस्टेबल कारक को कलकत्ता मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

यह भी पढ़ें: चीन के ‘आर्ट ऑफ वार’ पर भारी पड़ेगी भारत की ‘चाणक्य नीति’, जानें कैसे

घटनास्थल का दौरा करने के बाद उपायुक्त (मध्य) सुधीर कुमार नीलकांतम ने संवाददाताओं से कहा, ‘उसने खुद को गोली मारने के लिए सर्विस राइफल का इस्तेमाल किया. हम मामले की जांच कर रहे हैं. जिस तरीके से गोली चलाई गई और इसकी दिशा देखकर हम मान सकते हैं कि कारक ने आत्महत्या की.’

सूत्रों ने बताया कि उसे कलकत्ता मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. उन्होंने कहा कि कारक करीब दस वर्ष पहले बल में शामिल हुआ था और वह पूर्व मेदिनीपुर जिले का रहने वाला था और महानगर के लेक टाउन इलाके में किराये के एक मकान में रहता था. उसकी पत्नी यहां आरजी कार मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में नर्स है. सूत्रों ने कहा कि पिछले कुछ समय से उसके अवसाद का इलाज चल रहा था. राइटर्स भवन का फिलहाल पुनर्निर्माण कार्य चल रहा है और यहां कुछ सरकारी विभाग हैं जबकि शेष को अन्य स्थानों पर स्थानांतरित कर दिया गया है.

यह वीडियो देखें: 


First Published : 04 Jul 2020, 07:56:55 AM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here