FIRST EYE मैग्जीन के खुलासे से विधानसभा सचिवालय के गलियारों में मचा हड़कम्प

0
290

 

LUCKNOW | तैनाती के समय से ही भ्रष्टाचार का कीर्तिमान स्थापित करने वाले विवादित प्रमुख सचिव विधान सभा सचिवालय प्रदीप दुबे के काले कारनामें उजागर होने की बौखलाहट अब कर्मचारियों पर कहर बनकर टूट रही है। कलई खुलने के बाद मची खलबली ने विधानसभा सचिवालय में हड़कम्प मचा दिया है। प्रदीप दुबे की हिटलर शाही का बन्द जुबान से विरोध करने वालों से बन्द कमरे में धमकातें हुए पूछताछ करने की भी चर्चा है। मीडिया में लीक हुई खबरों से खीझे और गुस्साये प्रमुख सचिव कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त करने की धमकी दी जाने की बात भी छन कर बाहर आ रही है।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश की प्रतिष्ठित फस्र्ट आई मैग्जीन में प्रकाशित हुए प्रदीप दुबे के बादशाही कारनामों ने उसकी नींद उड़ा दी है। सीएम योगी आदित्यनाथ की अगेन्स्ट करेप्शन मुहिम प्रदीप दुबे एवं उनके सहयोगी रिटायर्ड अफसरों के काकस के गले की फांस बन सकती है। विधानसभा सचिवालय में पूर्व मुख्यमंत्रियों एवं विधानसभा अध्यक्षों के तैल चित्रों में हुई करोंड़ों की हेराफेरी से लेकर अन्य कार्याें में हुई कागजी लूट के साथ ही वर्तमान समय में भी वित्तीय अधिकारों के दुरूपयोग के अनगणित मामलों के पर्दाफास की आशंका ने दागियों की नींद उड़ा दी है।

माना जा रहा है कि इन दागियों द्वारा की गयी सरकारी धन की लूट से बनाई गयी करोड़ों की अकूत सम्पत्ति की जांच इनकी हकीकत खोल सकती है। यही वजह है कि बौखलाहट में विधानसभा सचिवालय का काकस अब इस बात का पता लगा रहा है कि इतनी गोपनीय काली हकीकत विधानसभा के तिलस्म से बाहर कैसे आई इसकी पड़ताल में पूरा विधानसभा सचिवालय प्रशासन जुट गया है।

गौरतलब है कि फस्र्ट आई मैग्जीन ने विधानसभा सचिवालय में प्रदीप दुबे और उनके रिटायर्ड अफसरों के काले कारनामों के खुलासे पर पहली कड़ी जारी की है। जिससे विधानसभा में खलबली मच गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here