यूजर ने विवेक ओबेरॉय को बताया नेपोटिज्म बोर्न, एक्टर ने ऐसे किया रिएक्ट

0
66
.

बॉलीवुड में इस समय नेपोटिज्म पर डिबेट जोरों पर चल रही है. स्टार किड्स सभी के निशाने पर हैं और सोशल मीडिया पर उन्हें ट्रोलिंग झेलनी पड़ रही है. अब इस लिस्ट में एक्टर विवेक ओबेरॉय का नाम भी जुड़ गया है. सोशल मीडिया पर एक यूजर ने विवेक पर नेपोटिज्म का प्रोडक्ट होने का आरोप लगा दिया है. लेकिन हैरानी इस बात की है कि विवेक के सपोर्ट में बॉलीवुड के एक बड़े डायरेक्टर सामने आए हैं.

विवेक पर लगे नेपोटिज्म के आरोप

कुछ दिन पहले एक यूजर ने विवेक ओबेरॉय को ट्रोल किया था. यूजर ने ट्वीट कर विवेक पर नेपोटिज्म का आरोप लगाया था. ट्वीट में लिखा था- विवेक ओबेरॉय नेपोटिज्म बॉर्न है. अब इशारा साफ था, यूजर ने विवेक ओबेरॉय के पिता सुरेश ओबेरॉय के जरिए एक्टर पर निशाना साधने की कोशिश की थी. अब सभी को उम्मीद थी कि विवेक ओबेरॉय इस यूजर को मुंहतोड़ जवाब देंगे. लेकिन उनके रिएक्ट करने से पहले मैदान में कूंदे डायरेक्टर संजय गुप्ता जिन्होंने ना सिर्फ एक्टर को सपोर्ट किया बल्कि यूजर की भी क्लास लगा दी.

संजय गुप्ता ने ट्वीट कर अपना गुस्सा जाहिर किया. वो ट्वीट करते हैं- ये क्या बकवास है, तुम्हें अहसास भी है कि विवेक ने अपनी फिल्म कंपनी कैसे हासिल की थी? उनके पिता का उसमें कोई योगदान नहीं था. और विवेक की परफॉर्मेंस इतनी बेहतरीन थी कि उनका डेब्यू सबसे अच्छा माना जाता है. अब संजय गुप्ता का ये ट्वीट देख विवेक काफी खुश हो गए. उन्होंने संजय के ट्वीट पर रिएक्ट करते हुए यूजर पर निशाना भी साधा.

एक्टर ने किया रिएक्ट

विवेक लिखते हैं- गुप्स सच्चाई के साथ खड़े रहने के लिए तुम्हारा शुक्रिया. हम जैसे कई लोगों ने मुश्किल रास्ता चुना था जहां सिर्फ टैलेंट मायने रखता है. बुरा लगता है जब कोई बिना जानकारी ऐसी बातें बोलता है. लोगों के ऐसे कमेंट उस सालों की मेहनत को खराब कर देते हैं जो एक्टर ने की होती है. अब विवेक ओबेरॉय के इस ट्वीट पर लोगों की प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है लेकिन राय बटी हुई है. कोई एक्टर का समर्थन कर रहा है तो कोई उन पर सवाल भी खड़े कर रहा है.

फिल्मों की नाकामी से दुखी अरशद वारसी, बोले- कुछ भी कर लूं कम ही है

गलवान घाटी में शहीद सैनिकों के पराक्रम पर फिल्म बनाएंगे अजय देवगन

वैसे नेपोटिज्म की ये डिबेट सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद शुरू हुई है. कई लोगों को ऐसा महसूस होता है कि इस इडंस्ट्री में सुशांत अकेले पड़ गए थे. ज्यादातर लोग नेपोटिज्म को इसकी वजह मानते हैं. ऐसे में इस समय नेपोटिज्म को लेकर काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है.

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here