कोरोना का कहर, नहीं मिल रहा मिड डे मील तो भीख मांग कर पेट भर रहे बच्चे

0
74
.
  • स्कूल बंद होने से नहीं मिल रहा मिड-डे-मील
  • भीख मांग कर, कबाड़ बेचकर भर रहे पेट

बिहार के भागलपुर में सरकारी स्कूल बंद होने के कारण बच्चों को मिड डे मील भी नहीं मिल पा रहा है. इस वजह से वहां पढ़ने वाले ज्यादातर बच्चे अब मांग कर या कबाड़ बेच कर अपना गुजारा कर रहे हैं. भागलपुर के बड़बिल्ला मुसहरी टोला के रहने वाले महादलित परिवार के बच्चों की स्थिति ऐसी ही है. जब से मिड डे मील नहीं मिल रहा, बच्चे पेट भरने के लिए सड़क पर भीख मांग रहे हैं या कबाड़ बेच रहे हैं. लॉकडाउन से पहले यह बच्चे स्कूल जाते थे, जहां उन्हें मिड-डे-मील में भरपेट भोजन मिल जाता था.

बच्चे बताते हैं, जब स्कूल चलता था तो खाने में चावल, दाल, सोयाबीन की सब्जी और अंडा मिला करता था, लेकिन स्कूल बंद होने के बाद खाने की दिक्कत हो गई है. अब हालात ऐसे हो गए हैं कि इन सभी स्कूली बच्चों को भागलपुर के सुल्तानगंज बाजार में भीख मांगनी पड़ रही है.

यहीं पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने बताया, ‘स्कूल अभी बंद है, मगर पहले जब स्कूल चलता था तो बच्चों को खाना मिल जाता था. अब बच्चों को मिड डे मील नहीं मिल पा रहा है, क्योंकि स्कूल बंद है.’ मुसहरी टोला की एक अन्य महिला निवासी ने कहा, ‘लॉकडाउन के बाद से हमलोग मांग कर खाने का गुजारा करते थे मगर अब बारिश का मौसम आ गया है. ऐसे में हमलोग भीख मांगने भी नहीं जा पा रहे हैं.’

बड़बिल्ला मुसहरी टोला में 1000 से ज्यादा बच्चे रहते हैं, जो मुख्य तौर पर भीख मांग कर या फिर कबाड़ बेचकर अपना गुजारा करते हैं. मुसहरी टोला के ही एक अन्य निवासी ने कहा, ‘हमलोग भी मांग कर खाते हैं, क्योंकि हमारे पास कोई रोजगार नहीं है. मुसहरी टोला में 1000 बच्चे होंगे और सभी भीख मांग कर खाते हैं.’

भागलपुर जिला प्रशासन के मुताबिक 14 मार्च से, जब से बिहार के सभी सरकारी स्कूल महामारी के कारण बंद हुए हैं, बिहार सरकार मिड डे मील का पैसा सभी बच्चों के खाते में जमा करवा रही है. प्रशासन का कहना है कि पहली से पांचवीं कक्षा तक पढ़ने वाले बच्चों के खाते में 114.21 रुपये जमा कराए गए हैं और छठी से आठवीं तक के बच्चों के खाते में 171.17 रुपये जमा कराए गए हैं.

वहीं दूसरी तरफ भागलपुर में महादलित बच्चों के द्वारा भीख मांगने के संबंध में अब राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने बिहार के मुख्य सचिव और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय को नोटिस जारी किया है और 4 सप्ताह के अंदर रिपोर्ट तलब की है.

 

भागलपुर मामले को संज्ञान में लेते हुए बिहार सरकार ने भी नया आदेश जारी किया है, जिसके मुताबिक मई, जून और जुलाई महीने के लिए बच्चों के खाते में पैसे बढ़ा कर जमा किए जाएंगे. अब पहली से पांचवी कक्षा के बच्चों को 358 रुपये और छठी से आठवीं के बच्चों को 536 रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे.

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here