सेक्स की लत क्या मानसिक समस्या है? WHO की राय जानें | health – News in Hindi

0
71
.
लत- चाहे ड्रग्स की हो, जुए की हो या फिर सेक्स की, यह दिमाग की केमिस्ट्री को बदल देती है. यही कारण है कि जब कोई व्यक्ति किसी चीज का आदी हो जाता है तो उसके बिना अधीर हो जाता है. यह उसके जीवन के लिए हानिकारक हो सकती है. अब तक विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के इंटरनेशनल स्टेटिकल क्लासीफिकेशन ऑफ डिजीज एंड रिलेटेड हेल्थ प्रॉब्लमस (आइसीडी10) और अमेरिकन मनोचिकित्सक एसोसिएशन (एपीए) ने सेक्स की लत (Hypersexuality)को मानसिक विकार के रूप में वर्गीकृत नहीं किया है. इसका कारण था- अलग-अलग लोगों में अलग-अलग सेक्स ड्राइव का होना. हालांकि, अब इस थ्योरी में कुछ बदलाव लाया जा रहा है.

साल 2022 से लागू होने वाले आइसीडी11 में सेक्स की लत (Sex Addiction) को अलग तरह से परिभाषित किया जा रहा है. इसके अनुसार जब कोई व्यक्ति अपनी लत पर नियंत्रण नहीं रख पाता है, बार-बार सेक्स के प्रति वह आकृष्ट होता है. उसका यह बर्ताव उसके व्यक्तिगत, पारिवारिक, सामाजिक, शैक्षणिक, व्यावसायिक जीवन को प्रभावित करता है तो इसे ‘कंपल्सिव सेक्सुअल बिहेवियर डिसऑर्डर’ माना जा सकता है. मई 2019 में वर्ल्ड हेल्थ असेंबली में प्रस्तुत किए गए आईसीडी11 के मुताबिक इस तरह के विकार वाले लोगों को सेक्स से बहुत कम या फिर ना के बराबर संतुष्टि मिल पाती है. सेक्स की लत को आइए विस्तार से समझते हैं.

सेक्स की लत के लक्षण

अन्य दूसरे प्रकार की लतों की तरह ही सेक्स की लत भी व्यक्ति के दिमाग पर अपना कब्जा कर लेती है. विशेषज्ञों का मानना है कि सेक्स और हस्तमैथुन दोनों ही सेहत के लिए फायदेमंद हैं, लेकिन इनकी लत यानी बिना इसके रह ना पाना, काफी हानिकारक होता है। सेक्स की लत के निम्न लक्षण होते हैं.

  • सेक्स का ही व्यक्ति के जीवन का केंद्रबिंदु बन जाना, उसके अलावा अन्य चीजों पर ध्यान न होना.
  • लत को दूर करने की काशिश में सफल ना होना.
  • बार-बार सेक्स या हस्तमैथुन करना। यह जानते हुए भी कि इसके परिणाम प्रतिकूल हो सकते हैं.
  • अधिक आनंद प्राप्त करने के लिए जोखिम लेने वाले कार्य करना, भले ही इससे उसका व्यक्तिगत या व्यावसायिक जीवन प्रभावित क्यों ना हो रहा हो.

मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े विशेषज्ञों ने सेक्स की लत को अभी तक मानसिक विकार के रूप में वर्गीकृत नहीं किया है. आईसीडी11 के कार्यान्वयन में अभी दो साल से अधिक का वक्त है. हालांकि, कहा गया है कि जब सेक्स की इच्छा किसी व्यक्ति के रिश्ते, जीवन और परिवार को प्रभावित करने लगे तो उसे डॉक्टरी सहायता लेनी चाहिए.

सेक्स की लत के कारण और जटिलताएं

सेक्स की लत किस कारण होती है यह अभी तक स्पष्ट नही हैं. विशेषज्ञों का मानना है कि कई अंतर्निहित मानसिक स्थितियां यौन लत को बढ़ावा दे सकती हैं. डिप्रेशन, अकेलापन, उदासी और यहां तक कि बहुत अधिक खुशी के कारण भी सेक्स की लत लग सकती है.

अगर सेक्स की लत  (Hypersexuality) की जटिलताओं के बारे में बात करें तो इसकी लंबी लिस्ट हो सकती है. सेक्स की लत से जुड़ा अपराधबोध और शर्म भी व्यक्ति में गंभीर चिंता और अवसाद का कारण बन सकती है. सेक्स की लत व्यक्तिगत संबंधों में खटास पैदा कर सकती है जिसका असर पारिवारिक और व्यावहारिक रिश्तों पर पड़ सकता है.

सेक्स की लत का निदान और उपचार

अभी तक चूंकि, सेक्स की लत को मानसिक विकार साबित कर पाने के पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं, ऐसे में मानसिक विकारों के निदान के लिए जिन मापदंडों का पालन किया जाता है उस आधार पर सेक्स की लत का निदान नहीं किया जाता है. हालांकि, आईसीडी11 का कहना है कि छह महीने या उससे अधिक के समय में किसी व्यक्ति में यदि सेक्स के प्रति अनियंत्रित इच्छा हो रही हो, उसका अपनी इच्छाओं पर रोक ना हो तो इसका एक विकार के रूप में निदान किया जाना चाहिए.

सेक्स की लत के उपचार के लिए वर्तमान प्रोटोकॉल निम्नलिखित हैं :

ग्रुप थेरेपी : सेक्स की लत से परेशान लोगों के लिए मेट्रो शहरों के साथ-साथ नॉर्थ-ईस्ट में कई कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं. इसके लिए एक टीम लत से परेशान लोगों से मिलती है और उनसे बातचीत करके लत को छुड़ाने में मदद करती है.

संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी : इस थेरपी में स्वास्थ्य विशेषज्ञ वन ऑन वन सेशन में सेक्स की लत से परेशान लोगों का इलाज करते हैं.

दवा : डॉक्टर को अगर जरूरत लगे तो वह आपको कुछ दवाइयां भी दे सकते हैं जो सेक्स की लत को कम करने में मदद करती हों. यहां ध्यान रखें इंटरनेट या अपने मन से कोई भी दवाई का सेवन ना करें.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, यौन स्वास्थ्य और सेक्स एजुकेशन के बारे में यहां पढ़ें।
न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here