विकास दुबे के साले की पत्नी ने कहा- गिरफ्तार हुआ, अब मैं ले सकती हूं चैन की सांस… | kanpur – News in Hindi

0
104
विकास दुबे के साले की पत्नी ने कहा- गिरफ्तार हुआ, अब मैं ले सकती हूं चैन की सांस...

विकास दुबे की गिरफ्तारी से उसके रिश्तेदार भी खुश हैं (फाइल फोटो)

विकास दुबे (Vikas Dubey) की महाकाल मंदिर (Mahakal temple) से गिरफ्तारी के बाद उसके साले ज्ञानेंद्र निगम की पत्नी मीडिया से मुखातिब हुई और दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की साथ अपने पति व बेटे की रिहाई की अपील भी की.

शहडोल. विकास दुबे (Vikas Dubey) की गिरफ्तारी के बाद न सिर्फ यूपी पुलिस (UP Police) और शहीद पुलिस वालों के परिजनों ने राहत की सांस ली है बल्कि विकास दुबे के रिश्तेदार भी उसकी गिरफ्तारी से चैन की सांस ले रहे हैं. विकास दुबे के साले की पत्नी का कहना है कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. दरअसल विकास दुबे कानपुर में 8 पुलिस कर्मियों की हत्या के बाद से फरार चल रहा था. इस दौरान उसे पकड़ने के पुलिस पूरे जोर-शोर से जुटी हुई थी. इसी क्रम में विकास दुबे के रिश्तेदारों के घरों में भी पुलिस की दबिश लगातार जारी थी. जिन भी रिश्तेदारों से विकास दुबे का कोई भी सुराग मिलने की संभावना थी पुलिस ने उन्हें पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था. विकास दुबे के साले और उसके बेटे को भी मध्य प्रदेश के शहडोल जनपद से पुलिस ने हिरासत में लिया था.

अगर मेरे पति की गलती तो उसे भी मिले सजा!
विकास दुबे की आज सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तारी के बाद उसके साले ज्ञानेंद्र निगम की पत्नी मीडिया से मुखातिब हुई और दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की साथ अपने पति व बेटे की रिहाई की अपील भी की. पुलिस ने विकास दुबे के साले और उसके बेटे को शहडोल में उनके घर से गिरफ्तार किया था. विकास के साले की पत्नी पुष्पा निगम ने यहां तक कहा कि अगर मेरे पति ने गलती की है तो उन्हें भी सजा मिलनी चाहिए लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो यूपी पुलिस मेरे पति और बेटे को रिहा करे.

ये भी पढ़ें- VIDEO: सुनिए विकास दुबे की गिरफ्तारी की कहानी, प्रत्यक्षदर्शी की ज़ुबानी

बता दें कि पिछले गुरुवार चौबेपुर थाना क्षेत्र के विकरू गांव में दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर विकास दुबे और उसके गुर्गों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं. इसमें बिल्‍हौर के सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद (Martyr) हो गए थे सिर्फ इतना ही पुलिस कर्मियों पर धारदार हथियारों से भी हमला किया गया था. इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम देकर विकास दुबे फरार हो गया था. रिपोर्ट के मुताबिक हमलावर बदमाशों ने पुलिस टीम पर AK-47 से भी गोलियां बरसाईं थीं. विकास दुबे को आज मध्य प्रदेश पुलिस ने उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर यूपी पुलिस को सौंपा है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here