Vikas Dubey Encounter: महज 10 मिनट के एनकाउंटर में ढेर हो गया विकास दुबे, 10 प्‍वाइंट में जानें पूरी कहानी | kanpur – News in Hindi

0
88
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में दुर्दांत अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) को यूपी एसटीएफ (UP STF) ने मार गिराया है. दरअसल, उज्जैन से गिरफ्तार विकास दुबे को यूपी एसटीएफ 3 गाड़ियों से करीब 700 किालेमीटर दूर कानपुर ला रही थी. यहां कानपुर देहात में अचानक एसटीएफ की वो गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो जाती है, जिसमें विकास दुबे सवार होता है. इसके बाद शुरू होता है एनकाउंटर, जो 10 मिनट बाद ही विकास दुबे की मौत और 4 सिपाहियों के घायल होने के रूप में समाप्त हो जाता है. एसएसपी और अस्‍पताल के डॉक्‍टरों ने विकास दुबे के मारे जाने की पुष्टि की है. कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने भी गैंगस्‍टर विकास दुबे के मारे जाने की पुष्टि कर दी है.

कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने बताया कि एसटीएफ की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हुई थी. इस दौरान आरोपी विकास दुबे ने कार में सवार पुलिसकर्मी की पिस्टल छीनकर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश की. इसी बीच एसटीएफ की दूसरी गाड़ियां पहुंच गईं और पुलिस की जवाबी फायरिंग में विकास दुबे को गोली लगी. उधर, पता चला है कि 4 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, इनमें एक इंस्पेक्टर, एक एएसआई और दो सिपाही शामिल हैं.

जानिए कब क्या हुआ

यूपी एसटीएफ विकास दुबे को उज्‍जैन से लेकर चली थी. सुबह करीब 7.15 बजे कानपुर के बर्रा थाना क्षेत्र में एसटीएफ की कार पलटी.

जब तक एसटीएफ काफिले में शामिल बाकी दो गाड़ियां रुकतीं, तब तक दुर्घटनाग्रस्त कार से विकास दुबे निकला और पिस्टल लेकर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश करने लगा.

एसटीएफ के जवानों ने मुस्तैदी दिखाते हुए मोर्चा संभाला. पुलिसकर्मी उसके पीछे भागे.

दोनों तरफ से फायरिंग.

विकास दुबे को गोली लगी, कई पुलिसकर्मी भी घायल.

7.25 पर एनकाउंटर खत्म

विकास और पुलिसकर्मियों को अस्पताल ले जाया गया.

डॉक्टरों ने विकास दुबे को मृत घोषित किया.

आईजी और एसएसपी ने भी गैंगस्‍टर के मारे जाने की पुष्टि कर दी.

उज्‍जैन में हुआ था गिरफ्तार
यूपी का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी विकास दुबे को उज्जैन में गिरफ्तार किया गया था. मध्‍य प्रदेश पुलिस ने उसे यूपी पुलिस को सौंप दिया था. उसे सड़क मार्ग से यूपी एसटीएफ की टीम कानपुर ला रही थी. इससे पहले उज्जैन के महाकाल मंदिर में गुरुवार को एक व्यक्ति ने खुद को यूपी का मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे बताने लगा था. बताया जा रहा है कि महाकाल मंदिर परिसर में पहुंच कर यह शख्स चिल्ला-चिल्ला कर ख़ुद को विकास दुबे बता रहा था. उसे फौरन मंदिर परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड ने पकड़ लिया और पुलिस को इसकी सूचना दी थी. जिसके बाद महाकाल थाना पुलिस उसे गाड़ी मे बैठाकर कंट्रोल रूम की तरफ रवाना हो गयी. पुलिस ने जब शख्‍स को पकड़ा तो चिल्‍लाने लगा- मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here