आठ हत्याएं, आठवां दिन ! महाकाल ने किया हिसाब, विकास का हुआ विनाश!

0
81

कानपुर। आज से ठीक आठ दिन पहले कानपुर के चौबेपुर की जमीन आठ पुलिसकर्मियों के खून से लथपथ हो गई थी। आठ दिन बाद आठ हत्याओं का हिसाब आखिर महाकाल ने आज ले ही लिया…अंत में विकास का विनाश हो ही गया। ये कहना गलत नहीं होगा कि आठ पुलिसवालों की मौत का बदला आज पूरा हो गया। मध्यप्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर से कल दुर्दान्त अपराधी विकास दुबे को एमपी पुलिस ने अपनी गिरफ्त में लिया था जिसके बाद उसको सुरक्षित रूप से यूपी एसटीएफ को सही सलामत सौंपा गया।

कल रात विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर लाया जा रहा था। उज्जैन से कानपुर लाते वक्त बर्रा इलाके के पास एसटीएफ की वह गाड़ी पलट गई जिसमें अपराधी विकास दुबे मौजूद था। पुलिस का कहना है कि दुर्घटना का फायदा उठाकर विकास दुबे ने एक पुलिसकर्मी से हथियार छीनकर भागने की कोशिश की जिसमे पुलिस उसे सरेंडर करने को कहा लेकिन फिर भी वो नहीं रुका और एक्चेंज ऑफ फायर में विकास को गोली लग गई। विकास को गोली लगने के बाद उसको कानपुर के हैलट अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया जाया गया जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस मुठभेड़ में 4 पुलिसकर्मियों के भी घायल होने की खबर सामने आई है।

Vikas Dubey Encounter Live Updates: विकास दुबे का शव लेने से परिजनों ने किया इनकार, नहीं पहुंचे पोस्टमॉर्टम हाउस | kanpur – News in Hindi

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मास्टरमाइंड विकास दुबे अब मारा जा चुका है। आज सुबह एनकाउंटर में मारा गया है। आपको बतादें कि विकास दुबे पर 5 लाख का इनाम भी घोषित था। विकास दुबे के शव का पोस्टमार्टम होने से पहले कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। यूपी एडीजी कानून एवं व्यवस्था प्रशांत कुमार ने इस बात की जानकारी दी कि कार पलटने के बाद विकास दुबे ने पुलिस के हथियार छीनने की कोशिश की और भागने का प्रयास किया जिसके बाद पुलिस द्वारा जवाबी फायर किया गया जिसमें वह घायल हो गया। अस्पताल ले जाने के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। हम जल्द ही आधिकारिक बयान जारी करेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here