प्रयागराज: होलागढ़ में परिवार के 4 लोगों की हुई हत्या में 8 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली | allahabad – News in Hindi

0
107
प्रयागराज: होलागढ़ में परिवार के 4 लोगों की हुई हत्या में 8 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली

प्रयागराज में होलागढ़ हत्याकांड मामले में पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं.

प्रयागराज (Prayagraj): पहले यह आशंका जताई गई कि यह वारदात लूट या फिर रेप की वजह से अंजाम दी गई. लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट और घर की तलाशी के बाद यह दोनों थ्योरी फेल हो गई.

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में 2 जुलाई की रात एक ही परिवार के 4 लोगों को उनके ही घर में बेरहमी से क़त्ल (Murder) किये जाने की वारदात के 8 दिन बीतने के बाद भी पुलिस (Police) के हाथ खाली हैं. पुलिस इस जघन्य हत्याकांड (Murder Case) के मामले में अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है. पुलिस न तो अभी तक किसी आरोपी को गिरफ्तार कर सकी है और न ही यह पता लगा सकी है कि एक ही परिवार के चार लोगों का क़त्ल किसने और क्यों किया?

अभी तक कोई क्लू पुलिस को नहीं मिला

एसएसपी प्रयागराज अभिषेक दीक्षित के मुताबिक अब तक कई संदिग्धों से पूछताछ की गई है. इसके साथ ही घटना के बाद से ही फरार चल रहे पड़ोसी होमगार्ड को भी पुलिस कानपुर से पकड़कर लायी है और उससे भी पूछताछ की जा रही है. लेकिन हत्याकांड को लेकर अभी तक कोई क्लू पुलिस को नहीं मिला है. एसएसपी के मुताबिक घटना की बची एक चश्मदीद मृतक विमलेश पाण्डेय की पत्नी रचना पांडेय की हालत ऐसी नहीं है कि उनसे पुलिस कोई पूछताछ कर सके. लेकिन उनके स्वस्थ्य होने पर पुलिस उनसे भी पूछताछ करेगी.

पुलिस हर एंगल पर छानबीन कर रही है: एसएसपीएसएसपी के मुताबिक हत्याकांड के खुलासे के लिए पुलिस हर एंगल पर छानबीन कर रही है और संदिग्धों से भी पूछताछ कर रही है. इसे साथ ही घटना के अनावरण के लिए पुलिस इलेक्ट्रानिक सर्विलांस की भी मदद ले रही है. एसएसपी के मुताबिक घटना के खुलासे के लिए पुलिस की कई टीमें लगा दी गईं है और जल्द ही मामले का खुलासा भी किया जायेगा.

घर में ही की गई हत्या

गौरतलब है कि प्रयागराज के होलागढ़ इलाके के देवापुर गांव में तीन जुलाई की सुबह एक ही परिवार के चार लोग घर में मृत पाए गए. परिवार की एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई थी. मौत के घाट उतारे गए लोगों में घर पर ही क्लीनिक चलाने वाले विमलेश पांडेय, उनके इकलौते बेटे प्रिंस और दो बेटियों सृष्टि व श्रेया को धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतारा गया था. विमलेश की पत्नी रचना पांडेय गंभीर रूप से ज़ख़्मी हुई थीं और उनका गम्भीर हालत में एसआरएन अस्पताल में इलाज चल रहा है.

अज्ञात के खिलाफ एफआईआर

विमलेश और उनके परिवार की किसी से कोई रंजिश नहीं थी. उनके भाई ने अज्ञात लोगों के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज कराई थी. वारदात के बाद घर में रखे सामान बिखरे पड़े थे और साथ ही दोनों बेटियों के कपड़े भी अस्त व्यस्त थे. इस मामले में पुलिस ने कई एंगल पर छानबीन की. पहले यह आशंका जताई गई कि यह वारदात लूट या फिर रेप की वजह से अंजाम दी गई. लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट और घर की तलाशी के बाद यह दोनों थ्योरी फेल हो गई.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here