विकास दुबे एनकाउंटर की जांच के लिए SIT का गठन, 31 जुलाई तक सरकार को सौंपनी होगी रिपोर्ट | lucknow – News in Hindi

0
110
विकास दुबे एनकाउंटर की जांच के लिए SIT का गठन, 31 जुलाई तक सरकार को सौंपनी होगी रिपोर्ट

गैगस्टर विकास दुबे को शुक्रवार सुबह एनकाउंटर में मार गिराया गया

एसआईटी (SIT) की अगुवाई एडिशनल चीफ सेक्रेटरी संजय भूसरेड्डी करेंगे. अपर पुलिस महानिदेशक हरिराम शर्मा और पुलिस उप महानिरीक्षक जे रवीन्द्र गौड़ को भी जांच दल का हिस्सा बनाया गया है.

लखनऊ. गैगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर (Vikash Dubey Encounter) मामले में उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने एसआईटी जांच (SIT Investigation) का आदेश दिया है. एसआईटी की अगुवाई एडिशनल चीफ सेक्रेटरी संजय भूसरेड्डी करेंगे. अपर पुलिस महानिदेशक (ADG) हरिराम शर्मा और पुलिस उप महानिरीक्षक (DIG) जे रवीन्द्र गौड़ को भी जांच दल का हिस्सा बनाया गया है. एसआईटी इस मामले की जांच कर 31 जुलाई तक सरकार को रिपोर्ट सौंपेगी.

बता दें कि उज्जैन में गिरफ्तार होने के बाद विकास दुबे को कानपुर लाया जा रहा था. लेकिन रास्ते में एसटीएफ की गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ. और पुलिस के अनुसार विकास दुबे ने एक पुलिसकर्मी की पिस्टल छीनने की कोशिश की. इसके बाद उसने पुलिस पर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश की, जवाबी फायरिंग में उसे गोली लगी. इसके बाद पुलिस ने विकास दुबे को अस्तपाल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

एसटीएफ की थ्योरी पर उठ रहे सवाल

एसटीएफ की इस थ्योरी पर चौतरफा सवाल खड़े हो रहे हैं. लिहाजा राज्य सरकार ने इस मामले की एसआईटी जांच कराने का फैसला लिया है. उधर यूपी पुलिस ने साफ कर दिया है कि कानपुर के बिकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी विकास दुबे के मारे जाने के बाद भी पुलिस का ऑपरेशन रुका नहीं है. पुलिस को अभी भी विकास दुबे के 12 साथियों की तलाश है, जिन्होंने इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया था. फिलहाल पुलिस ने विकास सहित 6 लोगों को एनकाउंटर में मार गिराया है, वहीं 3 को गिरफ्तार किया है.

21 में से 12 फरार

अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि बिकरू कांड को अंजाम देने के मामले में 21 अभियुक्तों को नामजद किया गया था, जबकि 60 से 70 अन्य अभियुक्त भी पुलिस के राडार पर हैं. उन्होंने बताया कि विकास दुबे समेत 6 नामजद अभियुक्त मारे जा चुके हैं, जबकि 3 को गिरफ्तार किया गया है. एडीजी ने कहा कि 21 में से 12 अपराधियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. वहीं मामले में अन्य अभियुक्तों में 8 को गिरफ्तार किया गया है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here