50 की उम्र में रहना चाहते हैं फिट तो इन सात पोषक तत्वों को अपनी डाइट में करें शामिल | health – News in Hindi

0
89
.
भागदौड़ भरी और बीमारी (Disease) से घिरी जिंदगी में अगर आप लंबी उम्र तक जीना चाहते हैं. तो सामान्य खान पान (Diet) के साथ ऐसे बहुत ही कम संभव हैं. इसके लिए आपको खानपान को बहुत अच्छा रखना पड़ेगा, जिससे कि आपके शरीर को वे सभी पोषक तत्व मिलें, जिनसे आपका शरीर ढलती उम्र में भी मजबूत और स्वस्थ रहे. इसके लिए आपको खानपान में बहुत से बदलाव करने होंगे इसके साथ ही फिट रहने के लिए एक्सरसाइज भी करना होगा.

आज हम आपको इस आर्टिकल में सात ऐसे पोषक तत्वों के बारे में बताएंगे, जो आपके शरीर को मजबूती देते हैं. इनके लिए आपको अपनी डाइट में कुछ चीजों को शामिल करना होगा, जिससे कि आपके शरीर को आवश्यक पोषक तत्व मिल सकें. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के डॉक्टर गुडसन और रिज़ो ने कुछ पोषक तत्व और उनके स्रोत के बारे में बताया है, जिनको खाने से 50 साल की उम्र में भी आपका शरीर फुर्तीला और स्वस्थ रहेगा. आइए इन पोषक तत्वों के बारे में जानते हैं.
क्या उम्र के अनुसार डाइट बदलनी चाहिए?

हां. रनर्स वर्ल्ड डॉटकॉम के अनुसार नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के डॉक्टरों के अनुसार उम्र के अनुसार डाइट में बदलाव होना चाहिए, क्योंकि हमारे शरीर को बदलती उम्र के साथ ही अलग- अलग पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है. डाइट में बदलाव से आपको अलग-अलग पोषक तत्व मिलते हैं, जो रोग प्रतिरोधक होते हैं. डाक्टरों को कहना है कि अगर आपने 50 साल की उम्र को पार कर लिया है तो इन सात पोषक तत्वों को लेना चाहिए. इसके लिए आपको डाइट में कुछ चीजों को शामिल करना होगा. आइए इसके बारे में जानते हैं.1. प्रोटीन

क्यों जरूरी है: प्रोटीन मांसपेशियों को लचीला बनाए रखने में मदद करता है. यह आपकी उम्र के अनुसार मांसपेशियों के प्राकृतिक नुकसान से निपटने में मदद साबित होता है.

क्या खाएं: पोल्ट्री, मछली, अंडे, दूध, पनीर, सेम, फलियां, ग्रीक दही, और सोया जैसी चीजें खा सकते हैं.

2. फाइबर

क्यों जरूरी है: फाइबर आपके जठरांत्र (gastrointestinal (GI) system ) प्रणाली को काम करने के लिए नियमित रखता है और कोलेस्ट्रॉल के स्तर और हृदय रोग के जोखिम को कम करता है.

क्या खाएं: साबुत अनाज, फल, सब्जियां, बीन्स और फलियां.
3. कैल्शियम और विटामिन डी

क्यों जरूरी है:  कैल्शियम और विटामिन डी एक-दूसरे के साथ हो जाते हैं. कैल्शियम को ठीक से अवशोषित करने के लिए आपके शरीर को विटामिन डी की आवश्यकता होती है. दोनों हड्डियों को मजबूत करते हैं और इम्यूनिटी बढ़ाते हैं.

क्या खाएं: वसायुक्त मछली, दूध और अनाज, अंडे, मशरूम, और कॉड लिवर तेल विटामिन डी से भरपूर होते हैं. सीड्स, पनीर, दही, सार्डिन, सामन, दूध, और बादाम कैल्शियम से भरपूर होते हैं.

4. विटामिन बी-12

क्यों जरूरी है: शरीर में लाल रक्त कोशिका के निर्माण, न्यूरोलॉजिकल फ़ंक्शन और डीएनए संश्लेषण के लिए विटामिन बी-12 की आवश्यकता होती है.

क्या खाएं: मछली, मांस, मुर्गी, अंडे, दूध, दूध उत्पाद से बनी चीजें, गढ़वाले अनाज.

5.पोटेशियम

क्यों जरूरी है: पोटेशियम एक महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट है जो आपकी कोशिकाओं को सामान्य गतिविधियों जैसे कि मांसपेशियों के संकुचन और एक कुशल दिल की धड़कन को पूरा करने के लिए आवश्यक है. पर्याप्त न मिलने से उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, और मधुमेह जैसी बीमारी हो सकती है.

क्या खाएं: खुबानी, दाल, किशमिश, बलूत का फल, आलू, केले, सोयाबीन, गुर्दे सेम.

6. ओमेगा -3 फैटी एसिड
क्यों जरूरी है : ओमेगा -3 एस सूजन और हृदय रोग को कम करने, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है. ओमेगा -3 एस याददाश्त को बढ़ाता है.

क्या खाएं: अलसी का तेल, चिया के बीज, अखरोट, सामन और हेरिंग.

आयरन
क्यों जरूरी है: आयरन लाल रक्त कोशिकाओं को मांसपेशियों तक ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए शक्ति प्रदान करता है. अपच की समस्या में मदद करता है. आयरन व्यायाम के दौरान आपकी मांसपेशियों के ईंधन का प्राथमिक स्रोत हैं.

क्या खाएं: गढ़वाले अनाज, सीप, दाल, पालक खाएं.

ये भी पढ़ें- भूलने की ये बीमारी कहीं कोरोना का खतरा तो नहीं बढ़ा रही, जीन से जुड़ा है कनेक्शन



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here