UP में 1 अक्टूबर से खुलेंगे यूनिवर्सिटी! ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर की होगी पढ़ाई, PG की 1 नवंबर से क्लास | lucknow – News in Hindi

0
31
UP में 1 अक्टूबर से खुलेंगे यूनिवर्सिटी! ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर की होगी पढ़ाई, PG की 1 नवंबर से क्लास

कोरोना वायरस संक्रमण के चलते उत्तर प्रदेश में विश्वविद्यालय और कॉलेज पिछले लगभग चार महीने से बंद हैं (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) द्वारा जारी गाइडलाइन (Guideline) के अनुसार पहली अक्टूबर से ग्रैजुएशन फर्स्ट ईयर (Graduation First year) की क्लास शुरू हो जाएगी. जबकि पोस्ट ग्रैजुएशन फर्स्ट ईयर की क्लास एक नवंबर से शुरू होगी

लखनऊ. कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी के चलते पिछले लगभग चार महीने से बंद विश्वविद्यालयों को अब फिर से खोलने की कवायद की जा रही है. उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने सभी राज्य विश्वविद्यालयों (State Universities) को खोलने के मद्देनजर गाइडलाइन जारी की है. इन गाइडलाइन (Guideline) के मुताबिक अक्टूबर 2020 से यूनिवर्सिटी में नए सेशन (Academic Session) की शुरुआत होगी. वहीं पढ़ाई नवंबर महीने में और मार्च से अप्रैल के बीच नए सत्र की परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी.

आदेश में कहा गया है कि पहली अक्टूबर से ग्रैजुएशन फर्स्ट ईयर की क्लास शुरू हो जाएगी. जबकि पोस्ट ग्रैजुएशन फर्स्ट ईयर की क्लास एक नवंबर से शुरू होंगी. गाइनलाइन के अनुसार 15 सितंबर, 2020 तक ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट्स की प्रवेश प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाए. वहीं पोस्ट ग्रेजुएशन 31 अक्टूबर, 2020 तक सभी एडमिशन की प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाए

चार अगस्त से ऑनलाइन क्लास शुरू होगी
वहीं ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर को छोड़कर अन्य सभी वर्ष के छात्रों की ऑनलाइन क्लास चार अगस्त से शुरू होंगी. यदि कोरोना वायरस से हालात सामान्य हुए तो एक अक्टूबर से प्रत्यक्ष (क्लासरूम) क्लासेज भी शुरू कर दी जाएंगी. यानी छात्र यूनिवर्सिटी और कॉलेज आकर पढ़ाई कर करेंगे. नए एडमिशन लेने वाले छात्र यानी ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर के क्लास एक अक्टूबर जबकि पोस्ट ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर की क्लास एक नवंबर से शुरू होगी.

कैंपस में भी हो सकेंगी क्लास और पढ़ाई 
सिलेबस के अनुसार काम से कम 45 दिन सिर्फ ऑनलाइन क्लास होगी. इसके बाद ऑनलाइन के साथ साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कैंपस में भी क्लास होंगी. इसके लिए रोटेशन सिस्टम बनाया जाएगा. जैसे फर्स्ट ईयर के छात्र एक हफ्ते तक 3-4 का समूह बनाकर अलग-अलग विषय की क्लास करेंगे. इसके बाद अगले हफ्ते में दूसरे और फिर अन्य. यूनिवर्सिटीज को स्मार्ट क्लास की मदद से संबद्ध कॉलेजों में भी लाइव सेशन करने के लिए कहा गया है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here