कानपुर शूटआउट: विकास दुबे के गांव पहुंचे जस्टिस शशिकांत अग्रवाल, शुरू हुई सबसे बड़े हत्याकांड की तफ्तीश | allahabad – News in Hindi

0
78
कानपुर शूटआउट: विकास दुबे के गांव पहुंचे जस्टिस शशिकांत अग्रवाल, शुरू हुई सबसे बड़े हत्याकांड की तफ्तीश

विकास दुबे के गांव पहुंचे जस्टिस शशिकांत अग्रवाल

बता दें कि 2 जुलाई की रात विकास दुबे (Vikas Dubey) ने अपने गुर्गों के साथ मिलकर दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर हमला किया था. इस हमले में क्षेत्राधिकारी देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे.

कानपुर. उत्तर प्रदेश के मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) को यूपी एसटीएफ ने मार गिराया. इलाहाबाद हाईकोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस शशिकांत अग्रवाल ने कानपुर शूटआउट प्रकरण की जांच शुरू कर दी है. सोमवार को वे गैंगस्टर विकास दुबे के गांव बिकरु पहुंचे. उन्होंने डीएम ब्रह्मदेव तिवारी और एसएसपी दिनेश कुमार पी के साथ गांव वालों से बातचीत कर 2 जुलाई को हुए घटनाक्रम की जानकारी ली. इस दौरान जस्टिस शशिकांत ने बिकरु गांव में विकास दुबे के घर के मलबे को देखा. इसके बाद उन जगहों पर गए, जहां मुठभेड़ के दौरान पुलिसकर्मियों की हत्या की गई थी. अधिकारियों ने वे घर भी दिखाए जहां से 2 जुलाई की रात फायरिंग हुई थी.

दरअसल योगी सरकार (Yogi Government) ने कानपुर शूटआउट से लेकर विकास दुबे और अन्य अपराधियों के एनकाउंटर के पीछे की हर एक कहानी को उजागर करने के लिए जस्टिस शशिकांत अग्रवाल की अगुवाई में कमीशन बनाया है. अग्रवाल दो माह में अपनी जांच पूरी कर शासन को अपनी रिपोर्ट देंगे.

मुठभेड़ में मारा गया विकास दुबे

बता दें कि 2 जुलाई की रात विकास दुबे ने अपने गुर्गों के साथ मिलकर दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर हमला किया था. इस हमले में क्षेत्राधिकारी देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे. इस घटना के बाद विकास दुबे अपने गुर्गों के साथ फरार हो गया था. 9 जुलाई को ही उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से विकास दुबे को पकड़ लिया गया. उसे कानपुर पुलिस और एसटीएफ की टीम कानपुर ला रही थी, तभी गाड़ी पलट गई और विकास दुबे हथियार छीनकर भागने लगा. पुलिस की जवाबी कार्रवाई में विकास दुबे भी मारा गया है.विकास दुबे व उसके साथियों के एनकाउंटर की भी होगी जांच
राज्य सरकार ने बताया कि जांच आयोग 2 जुलाई को अपराधी विकास दुबे व उसके सहयोगियों द्वारा की गई घटना जिसमे आठ पुलिसकर्मियों की हत्या हुई थी व अन्य कर्मी घ्यायल हुए थे उनकी गहनतापूर्वक जांच करेगा. साथ ही 10 जुलाई को पुलिस मुठभेड़ में मारे गए मुख्य आरोपी विकास दुबे व अलग-अलग स्थानों पर एनकाउंटर में मारे गए उसके साथियों की भी जांच करेगा.

विकास दुबे के नेक्सस की भी होगी जांच
इतना ही नहीं आयोग विकास दुबे और उसके साथियों की पुलिस, अन्य विभागों और सफेदपोशों से संबंधों की जांच भी करेगा. साथ ही भविष्य में ऐसी घटना न हो इसे लेकर सुझाव भी सरकार को देगा.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here