डायबिटिक हैं तो चाय में चीनी की जगह डालें स्टीविया, जानें बड़े फायदा | health – News in Hindi

0
55

स्टीविया एक औषधीय पौधा है, जिसे मधुरगुणा के नाम से भी जाना जाता है. यह औषधि चीनी की तरह मीठी होती है और घर के आंगन या गार्डन में उगाई जा सकती है. यह जड़ी-बूटी डायबिटीज रोगियों के लिए काफी फायदेमंद होती है क्योंकि इसमें कैलोरी नहीं के बराबर होती है और ना ही इससे कोई हानि पहुंचती है.

शरीर में नहीं बढ़ता शुगर लेवल : myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, डायबिटीज के रोगी चीनी के रूप में स्टीविया का उपयोग कर सकते हैं. इससे शुगर लेवल नहीं बढ़ता है. इसके अलावा स्टीविया हाई ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन, गैस एसिडिटी, त्वचा के रोग आदि के इलाज में भी किया जा सकता है. वजन कम करने में भी यह औषधि बड़े काम की है. इसका उपयोग शुगर फ्री चीजें बनाने के लिए भी किया जाता है.

जापानी मूल का पौधा है स्टीविया : यह पौधा मूल रूप से जापान में उगाया जाता है, लेकिन जब से भारत में इसके गुणों के बारे में जानकारी मिली है, तब से भारत में कई राज्यों में इसकी खेती की जा रही है.इंसुलिन रिलीज करने में करता है मदद : स्टीविया में मिठास होने की वजह से इसे हनी प्लांट भी कहते हैं. इसका उपयोग अधिकतर डायबिटीज के रोगी औषधीय टॉनिक के रूप में करते हैं. इसके सेवन से पैंक्रियास से इंसुलिन रिलीज होता है. इस प्रकार यह इंसुलिन शरीर में ग्लूकोज की मात्रा को अवशोषित कर शरीर में ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है.

रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक : एक वैज्ञानिक शोध में खुलासा हुआ है कि स्टीविया के सेवन से रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित किया जा सकता है. हाई ब्लड प्रेशर से ग्रसित लोगों को स्टीविया का सेवन करना चाहिए. बीपी कंट्रोल में रहने के साथ ही दिल की बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है.

वजन कम करने में मददगार : myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, स्टीविया का पौधा मोटापे को दूर करने में भी काफी मददगार होता है. इस पौधे में कैलोरी बिल्कुल नहीं होने के कारण इसके सेवन से शरीर में शुगर नहीं बढ़ पाती है, जिससे वजन नियंत्रित रहता है.

त्वचा की सुंदरता बढ़ाए : यह औषधीय पौधा त्वचा के लिए भी काफी गुणकारी होता है. स्टीविया के पौधे में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल एंटी- इन्फ्लेमेटरी आदि गुण भरपूर होते हैं, जिससे चेहरे के मुहांसे और सिर में रूसी की समस्या से निजात पाई जा सकती है. यही नहीं इसके द्वारा डैमेज बाल भी ठीक हो जाते हैं.

चेहरे की झाइयों को दूर करे : स्टीविया की पत्तियों में रेटिनोइक एसिड नामक तत्व होता है, जिससे झुर्रियों को कम किया जा सकता है. यह औषधि कोशिकाओं की उम्र बढ़ाने में मदद करती है. स्टीविया की पत्तियों को पीसकर चेहरे पर लगाने से चेहरे की सुंदरता बढ़ती है.

स्टीविया के इस्तेमाल से पहले ध्यान रखें ये बातें

स्टीविया के कई फायदे हैं, लेकिन इसके सेवन से कुछ लोगों को नुकसान भी हो सकते हैं. इसके सेवन से पहले चिकित्सक से परामर्श ले लें, जिससे किसी प्रकार के साइड इफेक्ट से बचा जा सकता है. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, स्टीविया के फायदे और नुकसान पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here