कोरोना विनाश में जुटा, भाजपा राजस्थान सरकार गिराने में : कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी

0
77

लखनऊ। कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे मामले थमने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। एक तरफ कोरोना संकट दोश को घेरे हुए है वहीं दूसरी और राजस्थान सरकार पर भी संकट मंडराने लगा है। इस मामले पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि, ‘देश में कोरोना संक्रमितों की निरंतर बढ़ती संख्या से स्थिति भयावह होती जा रही है । आज भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8,79,466 हो गयी है, पिछले 24 घण्टों में देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 29,108 बढ़ गयी है । अगर यही हाल रहा तो मध्य जुलाई तक भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगभग 10 लाख पार कर जाएगी’।

उन्होंने कहा कि ये देश का दुर्भाग्य है कि जब वह शताब्दी की सबसे बड़ी त्रासदी ‘‘कोरोना महामारी’’ का सामना कर रहा है, तो भाजपा का शीर्ष नेतृत्व पहले मध्य प्रदेष में कांग्रेस की सरकार गिराने में लगा रहा, और अब राजस्थान में कांग्रेस की सरकार गिराने में लगे हैं, उन्हें हिन्दुस्तान के आम आदमी की चिन्ता नहीं है। भाजपा पर कांग्रेस की सरकारें गिराने के आरोप लगाते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि बीजेपी सिर्फ ये सोच रही है कि कांग्रेस की सरकार कैसे गिरे, और उनकी कैसे बने ? वो अपनी सारी शक्ति इसी में लगा रहे हैं ।

बेहद रोचक है 7 गुप्त तेहखाने वाले भगवान विष्णु के इस मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला

उन्होंने कहा कि लोकतन्त्र में यह दुर्भाग्यपूर्ण एवं शर्मनाक है, इसकी जितनी भी निन्दा की जाय उतनी कम है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि एक बात तो स्पष्ट है कि जब से ‘‘लॉकडाउन’’ समाप्त करके ‘‘अनलॉक’’ शुरू किया गया है तब से कोरोना संक्रमितों की संख्या हर रोज तेजी से बढ़कर आसमान छू रही है और पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ दिये हैं, अब स्थिति भयावह हो गयी है।

कानपुर हत्याकांड के आरोपी विकास दुबे वाले मामले में भाजपा सरकार को घेरते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि ‘कानपुर प्रकरण में जैसे- जैसे राज खुलते जा रहे हैं वैसे-वैसे विकास दुबे के मददगारों की सूची भी लम्बी होती जा रही है। देश सहित विदेषों में भी विकास दुबे की सम्पत्ति का पता चल रहा है इससे यह आइने की तरह साफ है कि बगैर सत्तारूढ़ दल के वरदहस्त के यह संभव नहीं है’। उन्होंने कहा कि जब विकास दुबे पर लगभग 100 अपराधिक मुकदमे दर्ज थे तो उसका कोई भी शस्त्र का लाइसेंस निरस्त क्यों नहीं हुआ ? जबकि किसी आम आदमी पर यदि एक भी मुकदमा दर्ज हो जाता है तो उसके शस्त्र का लाइसेंस निरस्त कर दिया जाता है ।

जूही चावला अपने एक ट्वीट की वजह से हो गईं ट्रोल, डिलीट किया ट्वीट

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here