बेहद रोचक है 7 गुप्त तेहखाने वाले भगवान विष्णु के इस मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला

0
97

केरल। काफी लंबे समय से केरल में स्थित श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर के प्रशासन और प्रबंधन के बीच कानूनी विवाद चल रहा था। जिसको आज माननीय सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाकर समाप्त कर दिया है। आपको बतादें कि भगवान विष्णु को समर्पित इस मंदिर के प्रबंधन का अधिकार त्रावणकोर के पूर्व शाही परिवार को दिया गया है। बता दें कि इससे पहले केरल हाईकोर्ट ने मंदिर पर राज्य सरकार का अधिकार बताया था।

केरल का पद्मनाभस्वामी मंदिर प्रचीन मंदिरों और देश के सबसे सबसे धनी मंदिरों में गिना जाता है। कहते हैं कि इस मंदिर में काफी गहरे राज छिपे हैं। ये मंदिर बहुत ही सहस्यमयी माना जाता है। इस मंदिर में 7 गुप्त दरवाजे हैं। जिनमें से 6 दरावाजे खुल चुके हैं पर सातवां दरवाजा खुलना अभी बाकी है। आज भी मंदिर का सातवां दरवाजा हर किसी के लिए एक पहेली बना हुआ है। मंदिर के इस दरवाजे को आज तक कोई खोल नहीं सका है। हैरानी की बात यह है कि यह दरवाजा लकड़ी का बना हुआ है। इस दरवाजे को  खोलने या बंद करने के लिए किसी तरह का कोई सांकल, नट-बोल्ट, जंजीर या ताला नहीं लगा हुआ है। दरवाजा कैसे बंद है, ये आज भी वैज्ञानिकों के लिए एक रहस्य का विषय है।

क्या है मंदिर का इतिहास

इस रहस्यों से भरे मंदिर की स्थापना कब और किसने की ये अभी किसी को भी नहीं पता। किसी के पास भी इसकी ठोस जानकारी मौजूद नहीं है। लेकिन त्रावनकोर के इतिहासकार डॉ एल. ए. रवि वर्मा के अनुसार ये रहस्यमय मंदिर 5000 साल पहले कलियुग के पहले दिन स्थापित हुआ था।

डायबिटिक हैं तो चाय में चीनी की जगह डालें स्टीविया, जानें बड़े फायदा | health – News in Hindi

7वां और आखिरी गुप्त दरवाजा

भगवान विष्णु को समर्पित इस मंदिर में 7 गुप्त तहखाने हैं और हर तहखाने से एक दरवाजा जुड़ा हुआ है। लेकिन साल 2011 में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एक के बाद एक छह तहखाने खोले गए थे। इन तहखानों से लगभग 1 लाख करोड़ से ज्यादा कीमत के सोने-हीरे के आभूषण मिले, जो बाद में मंदिर ट्रस्ट के पास रखवा दिए गए। लेकिन जब आखिरी और सातवें दरवाजे को खोलने की बारी आई तो उसके पास पहुंचने पर दरवाजे पर नाग की भव्य आकृति खुदी हुई दिखाई पड़ी। जिसके बाद दरवाजा खोलने की कोशिश रोक दी गई। माना जाता है कि इस दरवाजे की रक्षा खुद भगवान विष्णु के अवतार नाग कर रहे हैं और इसे खोलना किसी बड़ी आफत को दावत देना हो सकता है।

सोने-चांदी के भाव में आई गिरावट, जानें क्या है आज का रेट

Authors

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here