लखनऊ में ऑड-ईवन व्यवस्था के साथ सुबह 9 से शाम 8 बजे तक खुले रहेंगे बाजार

0
46

लखनऊ। कोरोना वायरस के बढ़ते मामले चिंता की विषय बन गए हैं। हर रोज सामने आ रहे कोरोना संक्रमितों के मामलों को देखते हुए प्रदेश में मिनी लॉकडाउन लागू करने का फैसला सरकार ने लिया है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देख प्रदेश में सप्ताह में दो दिन बंदी के निर्देश दिए गए थे। अब इस बंदी के बाद सोमवार से सोमवार से सुबह नौ से शाम नौ बजे तक ही बाजार खुलेंगे। डीएम ने पहले ही नए निर्देश जारी कर दिए थे। रविवार को मिली जामकारी के मुताबिक 10 जुलाई के निर्देशों का मंगलवार से कड़ाई से पालन करना होगा। अलग-अलग बाजारों में दुकानें दिन के आधार पर खुलेंगी। इसके लिए उनको चिह्नित भी किया जाएगा जिससे ये पता चल सके की कौन सी दुकान किस दिन खुलेगी।

आपको बता दें कि निजी दफ्तरों में कर्मचारियों को घर से काम करने के निर्देश दिए हैं। बेहद जरूरी हो तो 50 फीसदी कर्मचारी बुलाए जा सकते हैं। डीएम अभिषेक प्रकाश ने नई व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू कर दी है। इसी के साथ सार्वजनिक आवागमन व्यवस्था पर नियंत्रण रखा जाएगा। इसके लिए सम विषम संख्या के आधार पर ऑटो, टेम्पो, ई रिक्शा आदि चलाए जाएंगे। कंटेनमेंट जोन में कोई गतिविधि नहीं होगी। डीएम ने कहा कि किसी भी व्यापारिक प्रतिष्ठान में बिना सैनिटाइजेशन किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

शनिवार और रविवार को बंदी के चलते दूकानों को नारंगी और हरे रंग से चिह्नित नहीं किया जा सका। ऐसे में डीएम अभिषेक प्रकाश ने सोमवार को ढील दी है। शर्त यह है कि दुकानों के चिह्नीकरण का कार्य पूरा हो जाए। यानी एक दिन नारंगी तो एक दिन हरे रंग से चिह्नित की गई दुकानें खुलें। टेम्पो-ऑटो अंतिम में सम-विषम के आधार पर मंगलवार से चलेंगे। 

ऐसे खुलेंगी दुकानें

  • सभी दुकानों को हरे और नारंगी रंग से पेंट कर चिह्नित किया जाएगा, जो नारंगी रंग की दुकानें होंगी वो सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को खुलेंगी वहीं हरे रंग की दुकानें मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को खोली जाएंगी।
  • मॉल, बहुमंजिला व्यापारिक प्रतिष्ठान, डिपार्टमेंटल स्टोर में रखे सामान पारदर्शी पॉलिथीन से ढंक कर रखना अनिवार्य होगा- ग्राहकों को सीमित संख्या में प्रवेश की अनुमति मिलेगी, किसी भी ग्रहक को यहां रखे सामान छूने की मनाही होगी।
  • बिना फेस मास्क, हेडकवर, शू कवर और दस्ताने के होम डिलिवरी पैकेट तैयार नहीं किए जा सकेंगे।
  • यदि निजी दफ्तर या संस्था खोलना आवश्यक हो तो अधिकतम 50 फीसदी ही कर्मचारी आ सकते हैं अन्यथा लोगों को घर से काम करने के लिए कहें।
  • सभी निजी दफ्तरों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना करना अनिवार्य होगा, प्रत्येक कर्मचारी को अरोग्य सेतु ऐप रखनी होगी।
  • कोविड-19 के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने पर वाहन चालक पर भी कार्रवाई होगी यानी बिना मास्क आप नहीं निकल सकते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here