PM CARES fund: वेंटिलेटर्स को लेकर शिवसेना-बीजेपी आमने सामने – bjp alleges ventilators given pm cares fund are getting deteriorated as bmc is not using them

0
57
.

मुंबई (MUMBAI) में वेंटिलटर्स (ventilators) के मामले में बीजेपी (BJP) और शिवसेना (SHIVSENA) में जंग (FIGHT) छिड़ गई है। दोनों दलों को यह ध्यान रखना चाहिए कि इस जुबानी जंग में जनता का नुकसान न होने पाए। लगातर बढ़ते मामलों को देखते हुए यदि वेंटिलेटर्स खराब हो रहे हैं तो उनका इस्तेमाल जनता के लिए करना चाहिए।

Edited By Avinash Pandey | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

बीजेपी- शिवसेना वेंटिलेटर विवादबीजेपी- शिवसेना वेंटिलेटर विवाद
हाइलाइट्स

  • बीजेपी ने बीएमसी पर वेंटिलेटर इस्तेमाल न करने का लगाया आरोप
  • बीजेपी ने कहा मरीज मर रहे हैं वेंटिलेटर की किल्लत की वजह से
  • पीएम केयर्स फंड से आये वेंटिलेटर को इस्तेमाल नहीं कर रही है बीएमसी
  • बीएमसी ने कहा वेंटिलेटर की कोई कमी नहीं
  • मुंबई के अस्पतालों में 125 वेंटिलेटर खाली हैं
  • बीजेपी का आरोप बेबुनियाद है

महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच में तल्खी अब बढ़ती जा रही है। ताजा मामला बीएमसी में सामने आया है जहां पर वेंटीलेटर्स को लेकर शिवसेना और बीजेपी आमने सामने आ चुके हैं। बीएमसी में बीजेपी गट नेता प्रभाकर शिंदे ने शिवसेना पर आरोप लगाया है कि पीएम केयर्स फंड की तरफ से मुंबई के लिए 400 से ज्यादा वेंटिलेटर भेजे गए हैं लेकिन दुख की बात यह है कि बीएमसी इन वेंटीलेटर उसका कोई सदुपयोग नहीं कर पा रही है। यह मशीनें यूं ही खराब हो रही हैं। प्रभाकर शिंदे ने कहा कि आज भी मुंबई शहर में कोरोना से पीड़ित मरीज वेंटिलेटर की कमी की वजह से मौत के मुंह में जा रहे हैं। बावजूद इसके बीएमसी इन वेंटीलेटर्स को इस्तेमाल नहीं कर रही है।

शिवसेना ने कहा बीजेपी का आरोप बेबुनियाद

बीजेपी के इस आरोप का शिवसेना की तरफ से भी जवाब दिया गया शिवसेना ने कहा कि पीएम केयर्स फंड की तरफ से बीएमसी को 446 वेंटिलेटर प्राप्त हुए हैं। जो अलग-अलग समय पर बीएमसी को मिले हैं ऐसे में इन वेंटीलेटर्स को इंस्टॉल करने के लिए और इनकी पूरी जांच करने के लिए टेक्निशियंस की जरूरत पड़ती है। मरीज को वेंटीलेटर देने के पहले उसकी की पूरी स्थिति सही से जांच करनी पड़ती है कि वह ठीक से काम कर रहा है या नहीं। इन सब कामों में तकनीकी विशेषज्ञों की जरूरत होती है। वेंटीलेटर्स के संचालन के लिए प्रशिक्षित लोगों की आवश्यकता होती है। इसलिए यह कहना कि वेंटीलेटर्स धूल खा रहे हैं यह गलत है।



मुंबई में 70 प्रतिशत लोग कोरोना से ठीक हुए


शिवसेना ने बीजेपी को बताया कि बीएमसी के तरफ से अस्पतालों में मरीजों की सुविधा के लिए इन वेंटीलेटर्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। बृहन्मुंबई महानगर पालिका क्षेत्र में कोरोना मरीजों के ठीक होने का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। तकरीबन 70% मरीज अब ठीक होकर घर जा रहे हैं। ऐसे में शहर के अस्पतालों में बेड खाली हैं।

पढ़ें:महाराष्ट्र में रिकॉर्ड तोड़ता कोरोना

अस्पतालों में 125 अभी खाली हैं

बीएमसी ने बताया कि उनके पास 1053 वेंटिलेटर पूरे शहर में उपलब्ध हैं जिसमें से 125 वेंटिलेटर खाली हैं यानी कि इन पर मरीज नहीं है ऐसे में अगर बीजेपी इन बेड पर किसी मरीज को ना पाकर यह आरोप लगाती है कि वेंटिलेटर का इस्तेमाल नहीं हो रहा है तो यह सरासर गलत है।



रोहित पवार ने कहा था केंद्र ने भेजे खराब
वेंटीलेटर्स

कुछ दिन पहले एनसीपी के नेता रोहित पवार ने बीजेपी पर यह आरोप लगाया था कि केंद्र ने पीएम केयर्स फंड की तरफ से जो भी वेंटिलेटर राज्य में भेजे है। वह खराब हैं और उनका इस्तेमाल करने से मरीजों की जान को खतरा हो सकता है।

Web Title bjp alleges ventilators given pm cares fund are getting deteriorated as bmc is not using them(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here