Operation Lotus: अमित शाह से मुलाकात के बाद फडणवीस बोले, महाराष्ट्र में ‘ऑपरेशन लोटस’ नहीं – no ‘operation lotus’ in maharashtra: fadnavis

0
118
.
देवेंद्र फडणवीस और अमित शाहदेवेंद्र फडणवीस और अमित शाह
हाइलाइट्स

  • गृह मंत्री अमित शाह से मिलने के बाद महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र में ऑपरेशन लोटस नहीं
  • उन्होंने कहा कि अगर महा अघाड़ी सरकार गिरेगी तो अंतर्विरोधों की वजह से न कि बीजेपी की वजह से
  • आज वह प्रधानमंत्री मोदी से भी मिलने वाले हैं

मुंबई

महाराष्ट्र विधानसभा के नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को कहा कि महाराष्ट्र में ‘ऑपरेशन लोटस‘ नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि महा विकास अघाड़ी सरकार अपने ही अंतर्विरोधों के कारण गिरेगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी को सरकार गिराने में कोई इंटरेस्ट भी नहीं है।

फडणवीस ने दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद यह बयान दिया। एक घंटे तक बंद कमरे में अमित शाह से उनकी चर्चा हुई। हांलाकि, बाहर निकलकर फडणवीस ने दावा किया कि शाह के साथ उनकी मुलाकात गैर राजनीतिक थी। उनकी दिल्ली यात्रा का मकसद प्रदेश के चीनी उद्योगों के लिए आर्थिक सहायता की मांग करना था । फडणवीस ने कहा कि हम राज्य सरकार को अस्थिर करने के इच्छुक नहीं हैं… यह समय कोरोना वायरस से संघर्ष का है।’ उन्होंने बताया, ‘महाराष्ट्र में ऑपरेशन लोटस नहीं होगा…हमने पहले ही कहा है कि सरकार में अपने अंतर्विरोध हैं और हम देखेंगे कि यह कब गिरती है ।’

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की स्थिति से भी शाह को अवगत कराया है और इसके लिए प्रधानमंत्री से मुलाकात का वक्त मांगा है।

आज मोदी से मुलाकात

फडणवीस शुक्रवार को दिल्ली में ही रुक कर शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। महाराष्ट्र के चीन उद्योग से जुड़े और राकांपा-कांग्रेस से भाजपा में आए नेताओं रणजितसिंह निंबालकर, हर्षवर्धन पाटील, धनंजय महाडीक, विनय कोरे और जयकुमार गोरे को लेकर दिल्ली गए हैं। बता दें कि पश्चिम महाराष्ट्र का चीनी उद्योग ही राकांपा की असली ताकत है।

केंद्रीय राजनीति की अटकल खारिज

फडणवीस ने उन अटकलों को भी खारिज कर दिया कि उन्हें दिल्ली में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने राष्ट्रीय राजनीति में किसी भूमिका के बारे में जानकारी दी गई है । हालांकि लंबे समय से यह चर्चा चल रही है कि महाराष्ट्र में सत्ता गंवाने के बाद देवेंद्र फडणवीस को भाजपा केंद्र में मंत्री बना सकती है। हाल ही में प्रदेशों में भाजपा के संगठनात्मक चुनावों की प्रक्रिया पूरी हुई है और जल्द ही केंद्र में भी बड़े पैमाने पर फेरबदल होने की संभावना है। चर्चा है कि भाजपा की योजना केंद्रीय मंत्रिमंडल से कुछ मंत्रियों को हटाकर उन्हें संगठन में सक्रिय करने और उनकी जगह मंत्री पद पर नए चेहरों को मौका देने की है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here