हाथों को साफ करने के लिए सैनिटाइजर का करते हैं इस्तेमाल, पहले जान लें ये खास बात | health – News in Hindi

0
59
.
हाथों को साफ करने के लिए सैनिटाइजर का करते हैं इस्तेमाल, पहले जान लें ये खास बात

अल्कोहॉल बेस्ड सैनिटाइजर अगर गलती से भी फूड पाइप में चला जाए तो ये पॉइजनिंग का कारण बन सकता है.

जितना असरदार हाथों को साबुन (Soap) या हैंडवॉश (Handwash) से धोना हो सकता है उतना असरदार कभी भी हैंड सैनिटाइजर (Sanitizer) का इस्तेमाल नहीं हो सकता है. हालांकि ये इन्फेक्शन से बचाने में असरदार है, लेकिन हैंड सैनिटाइजर के कुछ नुकसान भी हैं.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर से हर कोई परेशान है. हाथ धोना और सैनिटाइजर (Sanitizer) का इस्तेमाल करना अब बहुत जरूरी हो गया है. हमारी आदतों में से एक हाथ धोने की आदत भी बन गई है. इतना ही नहीं अब कहीं भी बाहर निकलने पर लोग सैनिटाइजर और मास्क (Mask) का इस्तेमाल जरूर करते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल करना भी आपको खतरे में डाल सकता है. जितना असरदार हाथों को साबुन (Soap) या हैंडवॉश (Handwash) से धोना हो सकता है उतना असरदार कभी भी हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं हो सकता है. हालांकि ये इन्फेक्शन से बचाने में असरदार है, लेकिन हैंड सैनिटाइजर के कुछ नुकसान भी हैं.

अल्कोहॉल बेस्ड सैनिटाइजर अगर गलती से भी फूड पाइप में चला जाए तो ये पॉइजनिंग का कारण बन सकता है. इसीलिए इसे बच्चों की पहुंच से दूर रखना जरूरी है. इसके अलावा अल्कोहॉल बेस्ड सैनिटाइजर की वजह से स्किन ड्राई और रफ भी हो सकती है. बार-बार इसका इस्तेमाल स्किन के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं है. सैनिटाइजर से आग लगने का भी खतरा है. सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर तुरंत आग के पास जाने से मना किया जाता है क्योंकि इसके कंटेंट में अल्कोहॉल होता है जिससे आग लगने का खतरा हो सकता है.

ज्यादा सैनिटाइजर के इस्तेमाल से गुड बैक्टीरिया भी हाथों से खत्म हो सकता है. वैसे तो ये अंदाज़ा लगना मुश्किल है कि आखिर कितना सैनिटाइजर इस्तेमाल करना सही है और कितना गलत, लेकिन फिर भी कुछ ऐसे टिप्स हैं जो आपको ये बता सकते हैं कि सैनिटाइजर का इस्तेमाल कहां नहीं करना चाहिए.

जब हाथ साबुन से धोए जा सकते होंअगर आपके पास साबुन और पानी उपलब्ध है तो फिर बार-बार हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने से बचें. आप चाहें तो बाहर जाते समय अपने हाथों को धोने के लिए पेपर सोप भी रख सकते हैं. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी ये माना है कि जर्म्स से पूरी तरह से छुटकारा पाने के लिए आप हैंड सैनिटाइजर की जगह साबुन का इस्तेमाल करें.

हाथ बहुत गंदे हों
अगर आपके हाथ बहुत ज्यादा गंदे दिख रहे हैं तो हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल सही नहीं है. अगर आपके हाथ पर मिट्टी या ऑयल जैसा कुछ लगा है तो हैंड सैनिटाइजर के इस्तेमाल से बचें. खाना खाने के पहले और उसके बाद हाथ साफ करने के लिए साबुन और पानी का ही इस्तेमाल करें. अगर गार्डनिंग कर रहे हैं या स्पोर्ट्स खेलकर आ रहे हैं तो भी हैंड सैनिटाइजर नहीं साबुन और पानी का ही इस्तेमाल करें. इसके अलावा कहीं बाहर से घर आने पर हाथ और मुंह साबुन और पानी से धोएं न कि हैंड सैनिटाइजर से हाथ साफ करें.

आसपास किसी को इन्फेक्शन हो

अगर आपके आसपास किसी को किसी भी तरह का इन्फेक्शन हो तो आप हैंड सैनिटाइजर की जगह बार-बार साबुन से हाथ धोने की कोशिश करें. इसके अलावा, ऐसी स्थिति में हमेशा मास्क पहन कर रखें. अगर कहीं किसी पब्लिक प्लेस से आ रहे हैं तो भी साबुन से हाथ धोएं. अगर आपके आसपास किसी को सर्दी-जुकाम भी है तो भी आपके लिए ये जरूरी है कि साबुन और पानी का इस्तेमाल किया जाए.

जब छोटे बच्चे आपके पास हों
अगर आपके आसपास बहुत छोटे बच्चे हैं तो उनके पास जाते समय सैनिटाइजर इस्तेमाल करने से बेहतर है कि आप हाथ साबुन से धो लें. ऐसे में अगर सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया जाए तो छोटे बच्चों को खतरा हो सकता है. इसलिए ऐसा करने से बचें. ((Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.))



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here