mlc maharashtra: महाराष्ट्रः विधान परिषद की 18 सीटें खाली, 4 और सदस्य सेवानिवृत्त – four more members of legislative council will retire

0
75
.
सांकेतिक तस्वीरसांकेतिक तस्वीर

मुंबई

महाराष्ट्र विधान परिषद में राज्यपाल मनोनीत 12 सीटों पर सेवानिवृत्त हुए सदस्यों की जगह पर अब तक नए सदस्य नामांकित नहीं किए जा सके हैं। उससे पहले 4 और सदस्य रविवार को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। दो सीटें पहले से ही खाली पड़ी हैं और अब कुल मिलाकर विधानपरिषद की 18 सीटें खाली हो जाएंगी।

रविवार को खाली होने वाली सीटों में नागपुर व औरंगाबाद स्नातक सीट से बीजेपी के अनिल सोले, एनसीपी के सतीश चव्हाण, पुणे शिक्षक सीट से दत्तात्रय सावंत और अमरावती शिक्षक सीट से श्रीकांत देशपांडे का नाम शामिल है। विप की धुले-नंदुरबार स्थानीय प्राधिकारी सीट भी रिक्त है। पुणे स्नातक सीट से चुने गए चंद्रकांत पाटील के विधानसभा में चुने जाने के बाद से यह सीट नौ महीने से खाली पड़ी है। आज खाली हो रही इस सीटों पर चुनाव कराने के बाबत कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

राज्यपाल मनोनीत सीटों पर घमासान

राज्यपाल मनोनीत 12 सदस्यों के सेवानिवृत्त हुए एक-डेढ़ महीने बीत गए हैं, लेकिन उन खाली स्थानों को भरने के लिए महाविकास आघाडी सरकार के तीनों दलों ने कोई निर्णय नहीं लिया है। बताया जा रहा है कि ठाकरे सरकार बनाने से पहले सरकार के तीनों दल शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने विधानपरिषद में राज्यपाल मनोनीत सीटें बांटने का निर्णय लिया था। यानी चार-चार सीटें सभी को मिलेंगी, लेकिन अब स्थित बदल गई है।

शिवसेना को चाहिए 5 सीटें

सरकार में सबसे कमजोर कांग्रेस कोटे पर एनसीपी और शिवसेना दोनों ही हाथ मारना चाहती हैं। शिवसेना को चार नहीं, पांच सीट चाहिए और यही मांग एनसीपी भी कर रही है। ऐसे में कांग्रेस के पास सिर्फ दो सीटें ही आएंगी, जो उसे मंजूर नहीं है। बताया जा रहा है कि शिवसेना और एनसीपी जितना ज्यादा खीचेंगी, उतना ज्यादा कांग्रेस पर दबाव पड़ेगा। इसलिए इस पर एनसीपी और शिवसेना खामोश है।

बताया जा रहा है कि राजस्थान कांग्रेस में फूट का फायदा महाराष्ट्र में एनसीपी और शिवसेना उठा सकती है। पांच-पांच सीटें शिवसेना और एनसीपी लेकर कांग्रेस को दो लिए मना लेगी।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here