किन कारणों से तेजी से बदलता है मूड? जानिए इसकी वजह और बचाव के उपाय | health – News in Hindi

0
426
.
सामान्य से थोड़ा ज्यादा खुश (Happy) होना और आनंद (Enjoy)लेना एक सामान्य प्रक्रिया है. इसी तरह से थोड़ा दुखी और निराश होना सामान्य बात है. लेकिन बहुत अच्छ मूड में होने के बावजूद एकदम से दुखी होना और डिप्रेशन में चले जाना या दुखी होने के बाद एकदम से खुश हो जाना यह सही नहीं है. मूड में इतनी तेजी से होने वाला बदलाव अस्वस्थ होने की ओर इशारा करता है. अगर आपको भी इस लॉकडाउन में ऐसा फील हो रहा है तो हमारे द्वारा बताये जा रहे उपायों को अपनाएं….

क्या हो सकती है इसकी वजह ?  
हेल्थलाइन की खबर के अनुसार विशेषज्ञों का मानना है कि मनोदशा में एकदम से बदलाव होना एक गंभीर स्वास्थ समस्या का लक्षण है. ऐसे बदलाव शरीर में हार्मोनल डिस्बैलेंस के कारण हो सकते हैं. मूड में इस तरह के बदलाव के लिए कई मानसिक स्वास्थ स्थितियां भी जिम्मेदार हो सकती हैं. इन्हें मूड डिसऑर्डर के रूप में जाना जाता है. आइए इनसे जुड़ी कुछ वजहों के बारे में हम आपको बताते हैं

1. दोध्रुवी विकार- यदि आप द्विध्रुवी विकार का शिकार हैं तो आप बेहद खुश से एक दम बेहद दुखी हो जाते हैं. कई बार बाइपोलर डिसऑर्डर से जुड़े मूड में बदलाव आम तौर पर साल में कई बार होता है.2. साइक्लोथैमिक विकार- साइक्लोथैमिक विकार, या साइक्लोथाइमिया, द्विध्रुवी विकार है. हल्के मूड के इस विकार में भावनाएं जो ऊपर और नीचे जाती हैं, लेकिन यह दो ध्रुवीय विकार से कम गंभीर हैं.

3. प्रमुख अवसादग्रस्तता विकार (एमडीडी)- एमडीडी में आप लंबे समय तक अत्यधिक उदासी का अनुभव करते हैं. एमडीडी को कभी-कभी नैदानिक ​​अवसाद भी कहा जाता है.

4.डिस्टीमिया- इसे लगातार अवसादग्रस्तता विकार (पीडीडी) कहा जाता है, जो अवसाद का एक पुराना रूप है.

5. व्यक्तित्व विकार- कुछ व्यक्तित्व विकारों में आप अपेक्षाकृत कम समय में मूड में तेजी से बदलाव का अनुभव करते हैं.

यूरिक एसिड बढ़ने से हो सकता है ये खतरा, जानें कम करने के घरेलू उपाय
इस समस्या से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके

1. शेड्यूल बनाएं- अपनी दिनचर्या का एक शेड्यूल बनाएं और उसी के हिसाब के काम करें. खासकर खाने और सोने में इसे पूरी तरह फॉलो करें.

2. नियमित रूप से व्यायाम करें- नियमित रूप से व्यायाम करने से मूड सहित आपका स्वास्थ सही रहेगा. इसके लगभग सभी पहलुओं के लिए कई लाभ हैं.

3. पर्याप्त नींद लें- रात की नींद महत्वपूर्ण होती है इसलिए रात में सोने में कोई समझौता न करें. क्योंकि नींद की कमी आपके मूड को प्रभावित कर सकती है.

4. स्वस्थ भोजन खाएं- संतुलित, स्वस्थ आहार आपके मूड को बेहतर बनाने में मदद करता और आपको स्वस्थ रखता है. इसलिए आपको स्वस्थ आहार लेना चाहिए.

5. लोगों से बात करें- खुद को अकेलापन और उदासी से बचाने के लिए लोगों के बीच में जाएं और लोगों से बात करें. अपने आसपास लोगों को खोजें और थोड़ा मनोरंजन करें.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here