Rain Bath Benefits: बारिश में जमकर नहाएं, स्किन और बालों के लिए है वरदान | health – News in Hindi

0
60
.

बारिश के पानी के फायदे (Rain Bath Benefits): बारिश की बूंदों के साथ हर कोई तरबतर होना चाहता है, लेकिन बारिश में भीगने पर बीमार न पड़ जाएं, इस बात की भी फिक्र होती है. यही कारण है कि कई लोग बारिश में भीगने की इच्छा को दबा लेते हैं और दूर से ही बारिश का आनंद लेते हैं. लेकिन शायद बारिश में भीगने के फायदे जानकर ये भ्रम दूर हो जाए कि इससे सिर्फ बीमार ही होते हैं. गर्मी के बाद बारिश में भीगने से शरीर को कई तरह से फायदे होते हैं. आइए जानते है बारिश में भीगने के क्या-क्या फायदे हैं –

बालों के लिए फायदेमंद

ये बात अजीब है, लेकिन बारिश के पानी में नहाने से बाल अच्छे होते हैं. बाल नर्म मुलायम हो जाते हैं और इनकी गुणवत्ता में सुधार होता है.यदि बारिश में भीगना नहीं चाहते हो तो बारिश का पानी किसी बड़े बर्तन में एकत्र करके फिर इस पानी से बाल धो सकते हैं.त्वचा में लाए निखार

बारिश में नहाने से त्वचा में निखार आता है. इससे त्वचा के मुंहासे ठीक हो जाते हैं. बारिश का पानी साफ होता है, जिससे त्वचा में निखार आता है. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, इस दौरान गर्म और ठंडे पानी की समस्याओं से बचना चाहिए. इससे त्वचा को नुकसान हो सकता है.

गर्मी की घमौरियां से छुटकारा

गर्मी के मौसम में पसीने की वजह से घमौरियां हो जाती हैं और ज्यादातर बच्चों को यह परेशानी अधिक होती है. गर्मी की वजह से घमौरियां छोटे-छोटे दाने के रूप में पीठ और गर्दन पर हो जाती हैं और चुभती हैं. बारिश में नहाने से इस परेशानी से छुटकारा मिल जाता है. बारिश के पानी में भीगने से शरीर का तापमान सामान्य होने से घामौरिया ठीक हो जाती हैं.

हार्मोन्स बनाए संतुलित

शरीर में कई ऐसे हार्मोन्स होते हैं, जो किसी ना किसी कारण से असंतुलित हो जाते हैं. ऐसे में बारिश इन हार्मोन की गड़बड़ी को ठीक करने में मदद कर सकती है. बारिश के पानी में नहाने से हार्मोन्स संतुलित हो जाते हैं. इसके अतिरिक्त बारिश के पानी से नहाने से कान से जुड़ी समस्याएं भी ठीक होती हैं.

गर्मी में दाद, खाज, खुजली की समस्या

कई लोगों को ज्यादा गर्मी सहन नहीं होती है. ठंडी तासीर के लोगों के लिए गर्मी में कई शारीरिक परेशानियां खड़ी हो जाती है. गर्मी में कुछ लोगों के हाथ व पैरों से त्वचा निकलना शुरू हो जाती है और पैर की एड़ियां फट जाती है. साथ ही पैर की दरारों से काफी खून भी निकलने लगता है. ऐसे लोगों के लिए बारिश का पानी अमृत के समान होता है. बारिश का पानी लगते ही दाद, खाज, खुजली और पैर की पीड़ादायी दरारें तत्काल ठीक हो जाती हैं. हाथ व पैरों में नई त्वचा भी आनी शुरू हो जाती है.

पहली बारिश में नहाने से ये नुकसान भी

कई लोग बारिश की पहली फुहार गिरते ही उसमें नहाते हैं, लेकिन डॉक्टरों का मानना है कि पहली बारिश प्रदूषण युक्त होती है. इसमें वातावरण के सभी दूषित पदार्थ मिले हुए होते हैं, इसलिए पहली बारिश में नहाने से वही प्रदूषण वाले पानी से स्किन की समस्या हो सकती है. बच्चों को भी पहली बारिश में कभी भीगने न दें. myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन के अनुसार, बारिश में ही वायरल बुखार का खतरा सबसे अधिक होता है. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, बारिश के मौसम में क्या खाएं, क्या नहीं खाएं पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here