बड़ी कामयाबीः सबसे बड़ा वाहन चोर गैंग लखनऊ से पकड़ा, 112 चार पहिया वाहन बरामद | lucknow – News in Hindi

0
155
.
बड़ी कामयाबीः सबसे बड़ा वाहन चोर गैंग लखनऊ से पकड़ा, 112 चार पहिया वाहन बरामद

इस गैंग के सदस्य लग्जरी गाड़ियां ही चुराते हैं.

लखनऊ पुलिस (Lucknow Police) ने राजधानी में एक कार चोर गैंग (Car Theft Gang) का खुलासा किया है, जिससे 112 चार पहिया वाहन (अभी 62 लग्जरी कारें और 21 जून 2020 को 50 ) बरामद हुए हैं. लखनऊ पुलिस के मुताबिक, यह देश में किसी चोर गैंग से वाहनों की सबसे बड़ी बरामदगी है.

लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस (Lucknow Police) ने राजधानी में एक कार चोर गैंग (Car Theft Gang) का खुलासा किया है, जिससे 112 चार पहिया वाहन (अभी 62 लग्जरी कारें और 21 जून 2020 को 50)  बरामद हुए हैं. लखनऊ पुलिस के मुताबिक, यह देश में किसी चोर गैंग से वाहनों की सबसे बड़ी बरामदगी है. इससे पहले मुंबई पुलिस (Mumbai Police) का 102 चार पहिया वाहन बरामद करने का रिकॉर्ड था. आपको बता दें कि इस गैंग द्वारा एक्सीडेंट कारों को नीलामी में खरीदा जाता है और फिर एक्सीडेंट वाली कार जैसी ही एक कार चुराई जाती है. इसके बाद एक्सीडेंट वाली कार को चोरी वाली कार से बदल दिया जाता है. साफ है कि इस गैंग के निशाने पर सिर्फ एक्सीडेंट वाली कारें रहती हैं.

गैंग के सात आरोपी और गिरफ्तार

पुलिस को यह कामयाबी पुलिस उपायुक्‍त पूर्वी सोमेन बर्मा की देखरेख में सहायक पुलिस आयुक्‍त पूर्वी अमित कुमार और सहायक पुलिस आयुक्‍त विभूतिखंड स्‍वतंत्र कुमार की टीम को मिली है.  सोमवार रात पुलिस ने कमता तिराहे के पास से गैंग के सदस्य सतपाल सिंह (कानपुर के नजीराबाद का निवासी ) और मनोज कुमार उर्फ बऊआ (फजलगंज निवासी ) को गिरफ्तार किया. इसके बाद पूछताछ में खुलासा हुआ कि उनके पांच साथी एक फारच्यूनर गाड़ी की डील करने के लिए लखनऊ आए हैं और पीजीआई थानाक्षेत्र के कल्ली पश्चिम इलाके में मौजूद हैं. इसके बाद पुलिस ने कल्ली पश्चिम स्थित सपना कार बाजार के पास दबिश देकर फारच्यूनर में सवार पांच अभियुक्तों कानपुर के चमनगंज निवासी ऐनुलहक, विकास जायसवाल, रेल बाजार निवासी इसरार, बजरिया निवासी जियाउल हक और नौबस्ता के विनोद शर्मा को गिरफ्तार कर लिया. वहीं, बाद में आरोपियों की निशानेदही पर अलग-अलग स्थानों पर डम्प करके रखी चोरी की 62 लग्जरी गाड़ियां बरामद की गईं हैं. फिलहाल पुलिस ने इस वाहन चोर गैंग के सात और लोगों को गिरफ्तार किया है. इनसे 62 चार पहिया वाहन बरामद किए गये हैं. इससे पहले 21 जून को पुलिस ने गैंग का भंडाफोड़ करते हुए ना सिर्फ पांच लोगों को गिरफ्तार किया था बल्कि 50 लग्जरी वाहन भी बरामद किए थे. इसे मिलाकर लखनऊ पुलिस इस मामले में कुल 112 गाड़ियां बरामद कर चुकी है. जबकि अभी भी उसका प्रयास जारी है.

21 जून को पुलिस को मिली थी पहली सफलतालखनऊ पुलिस ने इसी साल 21 जून को इस गैंग के पांच सदस्‍यों को गिरफ्तार किया था. उस समय लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने बताया था कि यह गैंग एक्सीडेंट वाली गाड़ियों को नीलामी में खरीदकर अपना गोरखधंधा चलाता था. वाहन चोरों का ये गैंग पूरे देश में काम करता है. हैरानी की बात ये है कि गैंग में चोर, कबाड़ी और इंश्योरेंस कंपनी के लोग भी शामिल है. यही नहीं, इस गैंग का एक सदस्‍य भोजपुरी फिल्‍मों (Bhojpuri Film) में काम कर चुका है, तो एक के इसी पैसे से बैंकॉक में होटल बनवाने का खुलासा पुलिस ने किया था. जी हां, आरोपी नासिर भोजपुरी फिल्मों में काम कर चुका है और वह खुद को पत्रकार भी बताता है. जबकि दूसरा गिरफ्तार आरोपी रोमी पाल खुद को एक मंत्री का ओएसडी बताता है. वहीं, एक अन्‍य गिरफ्तार आरोपी इरफान लग्जरी वाहन चोरी करके कमाए गए रुपयों से बैंकाक में होटल बनवा रहा है.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here