राम मंदिर पर शरद पवार के बयान का संजय राउत ने दिया जवाब

0
83
.
संजय राउत और शरद पवार (फाइल फोटो)संजय राउत और शरद पवार (फाइल फोटो)

मुंबई

अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में बयानबाजी तेज हो गई है। पीएम मोदी के भूमि पूजन कार्यक्रम में जाने को लेकर एनसीपी चीउफ शरद पवार ने बयान दिया। अब शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने उसका जवाब दिया है। राउत ने कहा कि राम मंदिर की बाधाएं शिवसेना ने ही दूर की हैं।

महाराष्ट्र सरकार में प्रमुख घटक दल शिवसेना अयोध्या में राम मंदिर बनाने के समर्थन में है, लेकिन एनसपी और कांग्रेस का रुख साफ नहीं रहा है। सोमवार को शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे जब सीएम नहीं थे, तब भी अयोध्या गए थे और मुख्यमंत्री बनने के बाद भी अयोध्या गए। अयोध्या और शिवसेना का एक नाता रहा है, जिसे कोई तोड़ नहीं सकता। यह कोई राजनीतिक नाता नहीं है। शिवसेना राजनीति के लिए अयोध्या नहीं जाती।

राउत ने दावा किया कि राम मंदिर बनाने का रास्ता शिवसेना ने तैयार किया है और बाधाएं भी शिवसेना ने ही दूर की हैं। श्रद्धा और हिंदुत्व के लिए शिवसेना ने हमेशा बलिदान दिया है। उनसे जब पूछा गया कि क्या राम मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ठाकरे को निमंत्रण मिला है? तब उन्होंने कहा कि अयोध्या जाने के लिए किसी तरह के निमंत्रण की जरूरत नहीं है। उन्हें अयोध्या जाने का रास्ता मालूम है। राउत ने साफ कहा कि भूमिपूजन कार्यक्रम के निमंत्रण को लेकर कोई विवाद नहीं है।

पवार के बयान पर राउत का सीधा जवाब

एनसीपी अध्यक्ष पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राम मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम में जाने को लेकर कहा था कि कुछ लोगों को लगता है कि मंदिर बनाने से कोरोना खत्म हो जाएगा। केंद्र सरकार को लॉकडाउन के चलते अर्थव्यवस्था को हुए नुकसान से उबारने की चिंता करनी चाहिए। इस पर राउत ने कहा कि कोरोना की लड़ाई सफेद कपड़े पहने डॉक्टर ही भगवान के आशीर्वाद से लड़ रहे हैं। डॉक्टरों के योगदान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री ने भी कबूल किया है।

डॉक्टर ही देवदूत: जयंत पाटील

पवार के बयान को सही साबित करने के लिए एनसीपी प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के जलसंसाधन मंत्री जयंत पाटील ने सोमवार को सांगली में कहा कि डॉक्टर और चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञ ही देवदूत के रूप में काम कर रहे हैं।

ठाकरे को बतौर मुख्य अतिथि बुलाया जाए

शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाईक ने मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन समारोह में पार्टी अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित करने की मांग की है। उन्होंने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्र्स्ट के मुख्य ट्रस्टी को पत्र भी लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि शिवसेना संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे मंदिर निर्माण आंदोलन में आगे थे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बार-बार राम मंदिर निर्माण की मांग करते रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि शिवसेना ने ही मंदिर निर्माण की नींव रखी थी।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here