खुशखबरी! सीरम इंस्टीट्यूट के मुताबिक इस महीने तक उपलब्ध होंगी कोरोना वैक्सीन की लगभग 4 मिलियन खुराक

0
71
.

नई दिल्ली। बीते लंबे देश समय से पूरी दुनाया कोरोना महामारी से जूझ रही है। विशेषज्ञ लगातार कोरोना की वैक्सीन बनाने के प्रयासों में जुटे हुऐ हैं। एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना संकट से जूझ रहा है तो वहीं दूसरी ओऱ एक राहत की खबर सामने आई है। बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने कहा है कि कंपनी इस साल दिसंबर तक ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित प्रायोगिक कोविड -19 वैक्सीन की 3 से 4 मिलियन खुराक का उत्पादन करने जा रही है औऱ उमीद है कि इस कार्य में सफलता भी मिलेगी। SII के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, Adar Poonawalla के मुताबिक ‘कोविशिल्ड’ पहली ऐसी कोविड -19 वैक्सीन है, जिसे कि यूके और भारत दोनों में परीक्षण सफल होने पर उन्हें लॉन्च किए जाने की उम्मीद है।

Special Story: पेड़ों को कटने से बचाने के लिए मध्यप्रदेश में शुरू हुआ ‘चिपको आंदोलन’!

आपको बता दें कि दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता SII को ऑक्सफोर्ड और उसके एस्ट्राजेनेका द्वारा वैक्सीन के निर्माण के लिए चुना गया है। द लांसलर मेडिकल जर्नल में सोमवार को प्रकाशित परीक्षण के परिणामों के अनुसार, एस्ट्राजेनेका और ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के टीके में कोई गंभीर साइड इफेक्ट और दो खुराक प्राप्त करने वाले लोगों में सबसे मजबूत प्रतिक्रिया के साथ एंटीबॉडी और टी-सेल प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को की बात बताई है।

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन में जा सकते हैं उद्धव ठाकरे

Adar Poonawalla ने जानकारी दी कि वे कोविड -19 वैक्सीन उम्मीदवार के ट्रायल की शुरुआत अगस्त के अंत तक 5,000 भारतीय स्वयंसेवकों से करेंगे, जो कि आवश्यक नोड्स प्राप्त करने के बाद और अगले साल जून तक वैक्सीन को लॉन्च कर देंगे। एडार पूनावाला के मुताबिक अगस्त के मध्य-अगस्त में बड़े पैमाने पर विनिर्माण होगा। इस साल के अंत तक 3 से 4 मिलियन खुराक का उत्पादन होने की पूरी संभावना है।

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here