बाबरी मामला: CBI कोर्ट में मुरली मनोहर जोशी ने दर्ज कराया बयान, जानें क्‍या कहा? | lucknow – News in Hindi

0
116
.
बाबरी मामला: CBI कोर्ट में मुरली मनोहर जोशी ने दर्ज कराया बयान, जानें क्‍या कहा?

सीबीआई ने जोशी से पूछे 1050 सवाल.

बाबरी ढांचा ध्वंस मामले (Babri Structure Demolition Case) में सीबीआई की विशेष अदालत में अपने बयान दर्ज कराते हुए भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी (Murali Manohar Joshi) ने खुद को निर्दोष बताया है.

लखनऊ. अयोध्या के ढांचा ध्वंस मामले (Babri Demolition case) में सीबीआई की विशेष अदालत के समक्ष आरोपित भाजपा के दिग्‍गज नेता मुरली मनोहर जोशी (Murali Manohar Joshi) ने गुरुवार को दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बयान दर्ज कराए. उन्होंने कोर्ट से खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि घटना के वक्त वह मौके पर मौजूद नहीं थे. यह पूरा मामला राजनीति से प्रेरित है और मुझे फर्जी तरीके से फंसाया गया है. इसके अलावा जोशी ने सीबीआई के सभी आरोपों को सिरे से नकाराते हुए गवाहों के बयान को भी झूठा बताया है.

वीडियो कैसेट से हुई छेड़छाड़
भाजपा के दिग्‍गज नेता मुरली मनोहर जोशी ने साथ की कोर्ट से कहा कि सबूत के तौर पर पेश वीडियो कैसेट से छेड़छाड़ हुई है. जबकि योजना के तहत कैसेट को विवेचना में शामिल किया गया है. इसके अलावा उन्‍होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद कल्याण सिंह राम जन्मभूमि स्थल गए थे और उन्‍होंने वहां मंदिर निर्माण का संकल्प नहीं दोहराया था. वहीं, जोशी ने उस वक्त के समाचार पत्रों की खबरों का भी खंडन किया. उन्‍होंने कोर्ट से कहा कि वह अपनी बेगुनाही के सबूत समय आने पर पेश करेंगे. आपको बता दें कि सीबीआई ने बाबरी ढांचा ध्वंस मामले में जोशी से 1050 सवाल पूछे. जी हां, सुबह करीब 11 बजे से शुरू हुआ बयान दर्ज करने का सिलसिला 3:30 बजे तक चला.

बहरहाल, बाबरी मामले में अब तक 29 आरोपियों के बयान दर्ज हो चुके हैं. अब सिर्फ लाल कृष्ण आडवाणी और सतीश प्रधान के बयान होने हैं. सीबीआई की स्‍पेशल कोर्ट में कल यानी शुक्रवार को आडवाणी तो  28 जुलाई को सतीश प्रधान के बयान वीडियो कांफ्रेंसिंग से होंगे. हालांकि इस मामले में एक आरोपी ओमप्रकाश पांडे फ़रार घोषित है.क्या है मामला ?

6 दिसंबर 1942 को अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद का ढांचा गिरा दिया गया था. इस मामले में बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं को आरोपी बनाया गया था, जिसमें लाल कृष्ण आडवाणी, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी, कल्‍याण सिंह, जयभान सिंह पवैया समेत कई और बड़े नेता शामिल थे. इन सभी ने अदालती कार्रवाई का सामना किया. कई साल से चल रहे इस केस में कुछ आरोपियों की मृत्यु भी हो चुकी है. अब यह सुनवाई अंतिम दौर में मानी जा रही है जिसके तहत आरोपियों के बयान दर्ज हो रहे हैं.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here