Atma Nirbhar Nidhi-Street Vendors, Hawkers Will Also Be Able To Take A Loan Of 10,000 Rupees, Know How To Avail Benefits-मोदी सरकार की इस योजना के जरिए रेहड़ी, पटरी वाले भी ले सकेंगे 10 हजार रुपये का लोन, जानिए कैसे उठाए फायदा

0
65
.

Atma Nirbhar Nidhi: आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत रेहड़ी, पटरी और खोमचा लगाने वाले छोटे कारोबारियों को दस हजार रुपये तक की कार्यशील पूंजी उपलब्ध कराई जाती है.

Bhasha | Updated on: 23 Jul 2020, 08:51:33 AM

Atma Nirbhar Nidhi

Atma Nirbhar Nidhi (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

Atma Nirbhar Nidhi: रेहड़ी, पटरी (Street vendors and hawkers) लगाने वाले छोटे कारोबारी अब आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत 10,000 रुपये तक का कर्ज देशभर में फैले 3.8 लाख साझा सेवा केन्द्रों (Common Service Centres-CSC) केन्द्रों के जरिये ले सकेंगे. सरकार की डिजिटल और ई- गवर्नेंस सेवा इकाई सीएससी ई- गवर्नेंस सविर्सिज इंडिया लिमिटेड ने यह जानकारी साझा की है. प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना पूरी तरह से आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा वित्तपोषित है.

यह भी पढ़ें: पटरी पर लौटा फैक्टरियों का काम-काज, मजदूरों की वापसी का इंतजार

एक साल के लिए मिलेगा लोन, मासिक किस्तों में करना होगा भुगतान
आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत रेहड़ी, पटरी और खोमचा लगाने वाले छोटे कारोबारियों को दस हजार रुपये तक की कार्यशील पूंजी उपलब्ध कराई जाती है. योजना के तहत कर्ज लेने वाले इन उद्यमियों को कर्ज का नियमित रूप से भुगतान करने प्रोत्साहन भी दिया जाता है और डिजिटल लेनदेन पर पुरस्कृत भी किया जाता है. योजना से रेहड़ी पटरी वालों को औपचारिक स्वरूप मिलेगा और इस क्षेत्र के लिये नये अवसर खुलेंगे. सीएससी योजना के तहत इन छोटे कारोबारियों का पंजीकरण करने में मदद करेगी. आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय में संयुक्त सचिव संजय कुमार ने कहा कि योजना के तहत शहरी क्षेत्र के रहड़ी पटरी वालों को दस हजार रुपये तक की कार्यशील पूंजी उपलब्ध होगी. यह पूंजी एक साल की अवधि के लिये होगी और इसका मासिक किस्तों में भुगतान करना होगा.

यह भी पढ़ें: दिवाली तक 70,000 रुपये प्रति किलो तक हो सकता है चांदी का भाव

उन्होंने कहा कि इस रिण के लिये कर्ज देने वाले संस्थान द्वारा कोई रहन अथवा गारंटी नहीं ली जायेगी. सभी कारोबारियों को डिजिटल लेनदेन करना होगा, उन्हें इसमें कैशबैंक की पेशकश मिलेगी. कुमार ने कहा कि योजना के लिये सिडबी को क्रियान्वयन एजेंसी नियुक्त किया गया है और अब तक इसकसे तहत दो लाख आवेदन प्राप्त हुये हैं जबकि 50 हजार कारोबारियों को कर्ज मंजूर किया गया है.


First Published : 23 Jul 2020, 08:48:58 AM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here