अंडा या चिकन शरीर के लिए कौन सा प्रोटीन ज्यादा जरूरी, जानें

0
80
.

पहले मुर्गी (Hen) आई या अंडा (Egg)? इस प्रश्न ने कई लोगों को वर्षों तक परेशान किया है और आज भी लोग मस्ती में इस प्रश्न को पूछकर सामने वाले को उलझाने की कोशिश में जुटे रहते हैं. खैर आज हम इस प्रश्न का जवाब देने की कोशिश नहीं कर रहे. हम इससे ज्यादा महत्वपूर्ण प्रश्न के उत्तर की खोज कर रहे हैं और वो प्रश्न है हमारी सेहत के लिए चिकन (Chicken) बेहतर है या अंडा? चलिए समझते हैं किसमें ज्यादा प्रोटीन (Protein) और पोषक तत्व होते हैं.

प्रोटीन का खजाना है चिकन

चिकन प्रोटीन का खजाना है, यही कारण है कि दुनियाभर में फिटनेस के दीवानों में यह खूब पसंद किया जाता है. अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) के अनुसार हर 100 ग्राम चिकन से हमें 143 कैलोरी एनर्जी मिलती है. 24.11 ग्राम प्रोटीन, 2.68 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 3.12 ग्राम फैट भी इसी 100 ग्राम चिकन से मिलता है. यही नहीं चिकन में अच्छी खासी मात्रा में कैल्शियम, आयरन, सोडियम, विटामिन ए और सी भी मौजूद होता है.अगर आप चिकन खाने के शौकीन हैं तो आप यह भी जानते ही होंगे कि इसके अलग-अलग अंगों में पोषक तत्वों की मात्रा अलग-अलग होती है. आप चिकन के किस हिस्से को खाते हैं उस पर निर्भर करता है कि आपको कितना प्रोटीन या पोषण मिलेगा. अगर आप वजन कम करना चाहते हैं या मसल्स बनाना चाहते हैं तो निश्चित तौर पर आपको अपने भोजन में चिकन ब्रेस्ट को शामिल करना चाहिए क्योंकि चिकन ब्रेस्ट में बहुत कम मात्रा में फैट और कैलोरी होती हैं, जबकि यह हिस्सा प्रोटीन का खजाना है. वहीं दूसरी तरफ अगर आप कम कार्बोहाइड्रेट वाला भोजन करते हैं, कीटोजेनिक डाइट पर हैं या वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आपको चिकन थाई, लेग्स और विंग्स का सेवन करना चाहिए.

ये है अंडे का फंडा

यूएसडीए के अनुसार 100 ग्राम के एक उबले हुए अंडे में 155 कैलोरी एनर्जी होती है. इसमें 12.58 ग्राम प्रोटीन, 1.12 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 10.61 ग्राम फैट होता है. यहां अंडे में फैट की मात्रा को देखकर परेशान न हों, क्योंकि हाल की स्टडी में पता चला है कि अंडे में डायटरी कोलेस्ट्रॉल होता है, जो ब्लड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नहीं बढ़ाता है. अब तो आप समझ ही गए होंगे कि बड़े-बूढ़े क्यों उबले हुए अंडे खाने को कहते हैं.

अंडे में कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फोस्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर, मैंगनीज, सेलेनियम, फ्लोराइड, विटामिन-ए, विटामिन-बी कॉम्पलेक्स और विटामिन के भी होता है. उबले हुए अंडे की पीली जर्दी, जिसे आमतौर पर लोग पसंद नहीं करते हैं, वह लूटेन और जीक्साथिन जैसे एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है. अंडे सिर्फ पोषण ही नहीं देते, बल्की यह मसल्स बनाने और वजन कम करने में भी मदद करते हैं. यही नहीं अंडे इम्यूनिटी सिस्टम को भी मजबूत बनाते हैं.

ये सब तो ठीक है, खाएं क्या?

इंडियन डर्मटोलॉजी ऑनलाइन जर्नल में साल 2019 में छपी एक स्टडी ने भारतीयों के खाने की आदतों पर रिसर्च की. इस स्टडी के अनुसार हम भारतीयों के डाइट में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है, जबकि प्रोटीन को हम नजरअंदाज कर देते हैं. प्रोटीन की कमी की वजह से कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हो सकती हैं, जिसमें मर्मस, एडिमा, मसल लॉस, सोरायसिस, डायबिटीज, डिस्लिपिडेमिया और त्वचा की क्लालिटी खराब होने के साथ ही बालों की खराब सेहत भी शामिल हैं. आपको प्रतिदिन कितना प्रोटीन लेना चाहिए, इसे समझने के लिए पहले अपना वजन जान लें. प्रति 1 किलो वजन में आपको 0.8 ग्राम प्रोटीन अपने भोजन में प्रतिदिन लेना चाहिए यानी अगर आपका वजन 50 किलो है तो आपको प्रतिदिन 40 ग्राम प्रोटीन की जरूरत होगी.

प्रोटीन की यह मात्रा हो सकता है आपको कम लगे, लेकिन असल में इसकी पूर्ति करना आसान नहीं है. अगर आप नियमित तौर पर उचित मात्रा में प्रोटीन लेंगे, तो कई बीमारियां और परेशानियां आपसे कोसों दूर रहेंगे. चिकन और अंडे दोनों में ही प्रोटीन की अच्छी-खासी मात्रा होती है. इसलिए आपको इन दोनों को ही अपनी डेली डाइट में शामिल करना चाहिए. अगर आप नियमित तौर पर चिकन और अंडे नहीं खा सकते या आप शाकाहारी हैं तो इनका बहुत ही अच्छा विकल्प आपको ढूंढ़ना होगा, ताकि प्रोटीन की कमी न हो.

अगर आप चिकन और अंडे में से कोई एक चीज को अपने प्रोटीन स्रोत के रूप में चुनना चाहते हैं तो चिकन ब्रेस्ट सर्वश्रेष्ठ चुनाव होगा. चिकन के अन्य भाग भी आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं. दूसरी तरफ अंडे पोषक तत्वों का खजाना हैं और इनमें प्रोटीन भी अच्छी मात्रा में होता है. यही नहीं चिकन के मुकाबले अंडे प्रोटीन और पोषक तत्वों के सस्ते विकल्प भी हैं. अपनी जरूरत और पॉकेट के अनुसार आप इनमें से जो कुछ भी चुनें, लेकिन ध्यान रहे कि अपनी दैनिक जरूरत के प्रोटीन का सेवन जरूर करें.

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here