UP बोर्ड: 9वीं, 11वीं में नया इंग्लिश सिलेबस- विदेशी लेखक बाहर, भारतीयों को जगह

0
57
.
नई दिल्ली. शैक्षणिक सत्र 2020-21 से, यूपी बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूलों के कक्षा 11 के छात्रों को इंग्लिश की नई किताबें पढ़नी होगीं. अब वे विलियम शेक्सपियर और विलियम वर्ड्सवर्थ की बजायकुशवंत सिंह और नानी पालखीवाला को पढ़ेंगे. यूपी बोर्ड ने विदेशी लेखकों को बाहर कर भारतीयों को जगह दी है.

इसी तरह, कक्षा 9 के छात्र विक्रम सेठ, मुल्क राज आनंद, आरके लक्ष्मण और रस्किन बॉन्ड को पढ़ेंगे. यूपी बोर्ड द्वारा की तरफ से अप्रूव्ड कक्षा 9 और 11 के लिए नए एनसीईआरटी पाठ्यक्रम के आधार पर अंग्रेजी की किताबें बाजार में उपलब्ध हैं. स्कूलों के प्रयागराज जिला निरीक्षक (डीआईओएस) आरएन विश्वकर्मा ने जानकारी दी.

उन्होंने कहा कि 28,000 से अधिक मान्यता प्राप्त स्कूलों में कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए अन्य विषयों के लिए NCERT-syllabus आधारित किताबें अप्रैल 2018 से तरीके से शुरू की गई हैं.

हालांकि, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अंग्रेजी और आधुनिक यूरोपीय भाषाओं विभाग के एलआर शर्मा ने एक अलग राय रखी. उन्होंने कहा, विलियम शेक्सपियर को व्यापक रूप से अंग्रेजी भाषा के इतिहास और दुनिया के पूर्व-प्रख्यात नाटककार के रूप में सबसे बड़ा लेखक माना जाता है. वह अंग्रेजी में शब्दों का सबसे बड़ा आविष्कारक था. शेक्सपियर ने वाक्यांशों और वाक्य-संरचना शैली के अलावा 1,600 से अधिक अंग्रेजी शब्दों का निर्माण किया, जिसने अंग्रेजी भाषा पर काफी प्रभाव छोड़ा.

एलआर शर्मा शेक्सपियर को विश्वविद्यालय स्तर पर पढ़ाते हैं. शर्मा ने कहा कि शेक्सपियर के नाटकों, कविताओं और सॉनेट्स ने जीवन के सबक सिखाए हैं, जो आज के समाज में भी प्रासंगिक हैं.

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here