कोविड-19 के संक्रमण से बचाएगी दालचीनी, रिसर्च में आया सामने | health – News in Hindi

0
156
.

दालचीनी का उपयोग बैक्टीरिया (Bacteria) और फफूंद का संक्रमण रोकने में होता है. इस तरह यह कोविड-19 (Covid-19) के संक्रमण का सामना करने में भी कारगर भूमिका निभा सकती है. ग्रामीण इलाकों में अनेक रोगों में आयुर्वेदिक औषधियों, मसालों और काढ़े का सेवन किया जाता है. अनुसंधानकर्ता लगातार इन दिनों औषधीय वनस्पतियों पर रिसर्च कर रहे हैं. नेशनल बॉटनिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (NBRI) के वैज्ञानिकों के मुताबिक दालचीनी (Cinnamon) लॉरेल फैमिली का सदस्य है. इसे अंग्रेजी में सिनामन और वनस्पति विज्ञान की भाषा में सिनेमोमम कहते हैं. इसमें एंटी ऑक्सीडेंट (Anti Oxidant) वाले गुण होते हैं और यह मधुमेह में शुगर के स्तर को भी कम करने में प्रभावी भूमिका निभाती है.

दालचीनी, हर्बल औषधियों से तैयार किया हैंड सैनिटाइजर
नेशनल बॉटनिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट ने प्रयोगशाला में हर्बल तत्वों से युक्त हैंड सैनिटाइजर तैयार किया गया है, जिसमें तुलसी और दालचीनी का भी इस्तेमाल किया गया है. इंस्टीट्यूट (एनबीआरआई) ने रोगाणुनाशक साल्यूशन बनाया है, जिसका फार्मूला हाल ही सार्वजनिक किया है, यानी आम लोगों को भी बताया है. इसका उपयोग हाथ धोने के अलावा मास्क धोने में भी किया जाता है. myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन के अनुसार जब तक कोरोना वायरस का टीका या दवा नहीं मिलते, इस तरह की सावधानियां ही इलाज हैं.महामारी में रोगों से लड़ने की क्षमता है अहम

कोविड-19 की चुनौती से लड़ने के लिए पूरे विश्व ने एकजुटता दिखाई है. इस महामारी से सफलतापूर्वक निपटने में इम्युनिटी यानी रोगों से लड़ने की क्षमता अहम भूमिका निभा रही है. ऐसे में प्राचीन परंपरा में आयुर्वेद और उससे बनी औषधियों का महत्व बढ़ गया है. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार आयुर्वेद में दालचीनी को एक शानदार औषधि बताया गया है. दालचीनी के सेवन से इम्युन सिस्टम तो मजबूत होता है. साथ ही दिल से संबंधित बीमारियों का खतरा भी दूर हो जाता है.

दालचीनी के साथ खाएं सहजन
जवाहर लाल नेहरू कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के वैज्ञानिकों के मुताबिक मुनगा या सहजन की फली औषधीय गुणों से भरपूर है. इसमें कैल्शियम और फास्फोरस पाया जाता है. इसका उपयोग कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए किया जा सकता है. इसके साथ में दालचीनी खाना और भी ज्यादा फायदेमंद होता है.

एक दिन में नहीं बढ़ती है इम्युनिटी

शरीर की इम्युनिटी एक दिन में नहीं बढ़ती. इसके लिए नियमित भोजन, व्यायाम, नींद और विटामिन-सी की भरपूर डाइट लेना आवश्यक होता है. ऐसे में अगर अपनी रोज की डाइट में दालचीनी को शामिल किया जाए तो इसका सकारात्मक असर बहुत जल्दी दिखाई देने लगता है. यह स्वाद में भी अच्छी रहती है, इसलिए खाने में मसाले के रूप में भी उपयोग की जाती है.

रोज सुबह पीएं दालचीनी का पानी
मसालों के अलावा दालचीनी का पानी पीना भी शरीर के लिए फायदेमंद होता है. रात में तांबे के बर्तन में पानी भरकर रख दें और उसमें दालचीनी का पावडर मिला दें. सुबह इस पानी को छानकर पीने के कई लाभ होते हैं. स्वाद के लिए इसमें थोड़ा सा नींबू और शहद भी मिलाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें – Covid 19: हाथ धोने के आदत से 50% कम होगा सामान्य संक्रमण का खतरा 

दालचीनी खाएं, ये सावधानियां भी रखें
ज्यादा दालचीनी खाने से लीवर को भी नुकसान पहुंचाता है. वहीं संतुलित मात्रा में इसका सेवन नहीं किया जाए तो कैंसर का खतरा भी बढ़ सकता है. अत्यधिक सेवन से लीवर कैंसर, फेफड़ों के कैंसर और किडनी संबंधी रोग को बढ़ा भी सकती है दालचीनी.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, वजन कम करने से लेकर कॉलेस्ट्रॉल कंट्रोल तक दालचीनी और शहद के फायदे पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here