उद्धव ठाकरे: ‘केंद्र सरकार ने दूध का पाउडर विदेश से नहीं मंगाया’ – ‘central government did not buy milk powder from abroad’

0
74
.

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरेमुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मुंबई

राज्य के पूर्व कृषि मंत्री डॉ अनिल बोंडे ने साफ किया है कि दूध के पाउडर के संबंध में यह सरकार जानबूझकर किसानों में भ्रम फैला रही है। दूध उत्पादक किसान इस पर विश्वास न करें। उन्होंने आरोप लगाया कि दूध उत्पादकों को उचित मूल्य न दे पाने की अपनी असफलता छिपाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा दूध पाउडर आयात करने की गलत खबरें आघाडी सरकार फैला रही है।

गौरतलब है कि गत 21 जुलाई को भाजपा ने दूध किसानों की समस्याओं को लेकर आंदोलन किया था। दूसरे दिन 22 जुलाई को राज्य के दुग्ध विकास मंत्री सुनील केदार ने दूध उत्पादक किसानों के साथ बैठक की, लेकिन बैठक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी। बैठक के बारे में पूछने पर मंत्री केदार ने कहा कि यह पहले से तय बैठक थी और इसे हमने दूध उत्पादक किसानों की समस्याएं जानने के लिए बुलाई थी। मंत्रिमंडल की बैठक में दूध उत्पादक किसानों को राहत देने के बाबत निर्णय लिया जाएगा। इस अवसर पर किसानों की बदहाली के लिए केदार ने भाजपा की केंद्र सरकार को दोषी ठहराया। उनका कहना था कि इस विपदा के दौर में भी केंद्र सरकार ने न्यूजीलैंड से 10 हजार टन दूध के पाउडर मंगाए, जबकि देश में पहले से ही दूध के पाउडर की भरमार है।

मनमोहन सरकार ने किया था समझौता: बोंडे

केदार के बयान पर डॉ बोंडे ने कहा कि पिछली कांग्रेस की मनमोहन सिंह सरकार ने विश्व व्यापार संगठन के तहत समझौता किया था। उसी समझौते के अनुसार 10 हजार मैट्रिक टन दूध पाउडर आयात करना अनिवार्य था, फिर भी कोई आयात करने के लिए तैयार नहीं है और केंद्र सरकार ने न ही किसी को भी आयात करने की अनुमति दी है, इसलिए दूध पाउडर आयात करने का दावा पूरी तरह से तथ्यहीन व गलत है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here