प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: मेरी सरकार का भविष्य विपक्ष के हाथ में नहीं: मुख्यमंत्री – opposition is not in the hands of my government: chief minister

0
65
.

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरेमुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मुंबई

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि मेरी सरकार का भविष्य विपक्ष के हाथ में नहीं है। स्टेयरिंग मेरे हाथ में है। तीन पहिये (ऑटो-रिक्शा) वाला वाहन गरीब लोगों का है। बाकी के दो पीछे बैठे हैं।’ उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भले मेरी सरकार तीन पहिये वाली है, पर यह सही दिशा में आगे बढ़ रही है, तो आपको पेट में दर्द क्यों हो रहा है?’ गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इससे पहले सत्तारूढ़ एमवीए की तुलना तीन-पहिया वाहन ऑटो रिक्शा से करते हुए इसकी स्थिरता पर संदेह प्रकट किया था।

इसी बहाने ठाकरे ने केंद्र की एनडीए सरकर पर सवाल उठाया और कहा कि अगर मेरी सरकार तीन पहिये की है, तो फिर केंद्र में कितने पहिये की सरकार है। उन्होंने भाजपा को याद दिलाया कि जब वह आखिरी बार राजग की बैठक में शामिल हुए थे, तो वहां ‘एक ट्रेन की तरह 30 से 35 पहिये थे।’

सरकार में कोई मतभेद नहीं

उन्होंने कहा कि महा विकास आघाडी सरकार में कोई मतभेद या अस्थिरता नहीं है। सहयोगी दल राकांपा और कांग्रेस का रुख ‘सकारात्मक’ है और सरकार को उनके अनुभव का फायदा मिल रहा है। तीन दलों की गठबंधन सरकार में नजरअंदाज किए जाने की कांग्रेस की शिकायत को प्रदेश कांग्रेस नेताओं के साथ उनकी बैठक के बाद हल कर लिया गया है। उन्होंने कहा, ‘मेरा राकांपा प्रमुख शरद पवार से अच्छा तालमेल है। मैं बीच-बीच में सोनिया गांधी को भी फोन करता रहता हूं।’

नागपुर के लिए बुलेट ट्रेन चाहिए

मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना पर उन्होंने कहा कि मुंबई-अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन चलाने के बजाय मुंबई और नागपुर के बीच इस तरह के तेज गति वाले रेल संपर्क को प्राथमिकता देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह उन परियोजनाओं को बंद करेंगे, जिन्हें लोग नहीं चाहते। अगर लोग बुलेट ट्रेन नहीं चाहते तो ऐसा नहीं होगा।’

चीन से व्यापार पर राष्ट्रीय नीति बने

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चीन के साथ व्यापार पर राष्ट्रीय नीति बनाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हाल ही में हुए 16,000 करोड़ रुपये के समझौते ज्ञापन शुरुआती चरण में हैं तथा और निवेश आ रहा है।

अर्थव्यवस्था पर पीएम की सलाह

उन्होंने माना कि राज्य की अर्थव्यवस्था की हालत ठीक नहीं है, लेकिन साथ ही कहा कि पूरी दुनिया इस संकट का सामना कर रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों को लोकलुभावनवादी कदमों के तौर पर किसी तरह की छूट या सब्सिडी देने की घोषणा न करने के लिए कहा है, क्योंकि इससे अर्थव्यवस्था पर और बोझ बढ़ेगा।

राम मंदिर का हो ई-भूमि पूजन

उद्धव ठाकरे ने अपने इंटरव्यू में अयोध्या में नए राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन को लेकर भी बेबाकी से अपनी बात रखी। ठाकरे ने कहा कि वह समारोह के लिए उत्तर प्रदेश में अयोध्या जा सकते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि राम मंदिर के मुद्दे की पृष्ठभूमि में संघर्ष रहा है। यह सामान्य मंदिर नहीं है। आज, हम कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से लड़ रहे हैं और धार्मिक समागम प्रतिबंधित हैं। ऐसे में लाखों राम भक्तों को अयोध्या आने से कैसे रोका जा सकता है? यह खुशी का कार्यक्रम है और लाखों लोग समारोह में शामिल होना चाहते होंगे। क्या हम कोरोना वायरस को फैलने की इजाजत दे सकते हैं? उन्होंने कहा कि राम मंदिर आस्था का मामला है। आप लोगों को वहां जाने से कैसे रोक पाएंगे? इसलिए राम मंदिर का ई-भूमि पूजन किया जा सकता है। भूमि पूजन समारोह विडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हो सकता है। बता दें कि उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनने से पहले और बनने के बाद रामलला के दर्शन करने अयोध्या जा चुके हैं।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here