CM योगी ने किया बलिया का दौरा कर कोविड-19 नियंत्रण हेतु तैयारियों की समीक्षा की

0
43

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यानी बुधवार को बलिया का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने आजमगढ़ मण्डल में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने तीनों जनपद के प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और डोर-टू-डोर सर्वे पर विशेष जोर दिया जाए। इसके लिए उन्होंने कहा कि टीमें बनाकर उन्हें प्रशिक्षित करें और क्षेत्र में उनके कार्य पर नजर बनाए रखें। उन्होंने कहा कि कोरोना की जांच के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किए जाएं।
सीएम योगी ने प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग शत-प्रतिशत होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि तीनों जनपदों में मिले मरीजों के हिसाब से जो कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग हुई है वह पर्याप्त नहीं है। अतः इस पर विशेष ध्यान दिया जाए।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि इस बात का ध्यान रहे कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में नाम, पता व मोबाइल नम्बर सही दर्ज हो। हर एक पॉजिटिव मरीज को चिन्हित कर आइसोलेट किया जाए। साथ ही कहा कि मरीजों से सौहार्द्रपूर्ण व्यवहार किया जाए। उनको फैसिलिटी सेंटर में कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। शौचालय हमेशा साफ-सुथरा रहे। मरीजों को समय से गुणवत्तापूर्ण भोजन, मनोरंजन के लिए किसी सुरक्षित जगह पर टीवी, अखबार उपलब्ध कराया जाए। सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने जिलाधिकारी व सीएमओ को स्थिति की प्रतिदिन समीक्षा करने के निर्देश दिए।

CM योगी ने वाराणसी में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए दिए निर्देश

आजमगढ़ में आरटीपीसीआर लैब की स्थापना के सम्बन्ध में सीएम ने कहा कि मेडिकल कॉलेज से समन्वय बनाकर लैब स्थापित कराई जाए। उन्होंने बलिया में भी लैब स्थापित करने की कार्यवाही शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे के बाद एंटीजन किट से जांच में तेजी लाई जाए। इस बात का ध्यान रहे कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग व लक्षण वाले मरीजों तथा गंभीर बीमारी का उपचार कराने अस्पताल आने वाले मरीजों का ही इससे टेस्ट किया जाए। उन्होंने मऊ में कम टेस्ट होने पर जिलाधिकारी व सीएमओ को निर्देश दिए कि कम से कम एक हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं।

उन्होंने डीआईजी को निर्देश दिए कि जिला जेल में अत्यंत तेजी से कोरोना के प्रसार के कारणों की जांच करें। उन्होंनेसाथ ही ये भी कहा कि सप्ताह में पांच दिन कंटेनमेंट जोन को छोड़कर अन्य जगहों पर सारी गतिविधियां जारी रहेंगी। शनिवार व रविवार की बंदी में व्यापक तौर पर स्वच्छता व सफाई का कार्य होगा। इस बीच फॉगिंग, छिड़काव का कार्य प्रभावी ढंग से कराया जाए।

सांसद पीएल पुनिया के साथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू राज भवन के बाहर दे रहे थे धरना, पुलिस ने किया गिरफ्तार

सीएम ने खाद्यान्न वितरण व्यवस्था पर पैनी नजर रखने के निर्देश देते हुए कहा कि इसमें अगर कहीं शिकायत मिली तो सम्बन्धित की जवाबदेही तय होगी। खाद्यान्न वितरण में गडबड़ी के मामले में कोई दोषी मिले तो जिला प्रशासन तत्काल कड़ी कार्रवाई करे। बाहर से भारी मात्रा में आए प्रवासी मजदूरों को सूक्ष्म, लघु उद्यम आदि के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराने पर विशेष जोर दिया जाए। इसके लिए रोजगार कार्यालय को सक्रिय कर इस कार्य में लगाया जाए। उद्योग, मनरेगा, कृषि या अन्य निर्माणाधीन प्रोजेक्ट में इन मजदूरों के लिए रोजगार का अवसर ढूंढा जाए। बैंकों से लोन दिलवाकर स्वतः रोजगार के लिए प्रेरित किया जाए। इसी के साथ ही उन्होंने कहा कि जिन गांवों में पानी आ गया है, वहां खाद्यान्न का वितरण सुनिश्चित कराया जाए। प्रशासनिक अधिकारी यह देख लें कि गांव में चारे की उपलब्धता पर्याप्त मात्रा में हो। उन्होंने पशुपालन विभाग को इसके लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मेडिकल टीम भी लगातार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में भ्रमण करती रहे। बैठक में बलिया, मऊ व आजमगढ़ के प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here