बिकरू कांड: कुख्यात अपराधी विकास दुबे के भाई के बारे में पुलिस के हाथ लगे सबूत

0
47

कानपुर। इस साल का सबसे चर्चित केस विकास दुबे मामले में एनकाउंटर के बाद भी नए-नए खुलासे हो रहे हैं। आठ पुलिसवालों की हच्या का मुख्य आरोपी  व हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का भाई दीप प्रकाश उर्फ दीपू लखनऊ के आस पास की जगह में कहीं छिपा बैठा है। आपको बता दें कि दीपू तीन दिन में चार चिठ्ठियां भेज चुका है। इन चिठ्ठियों में लिखा है कि वो बिलकुल ठीक है और बहुत जल्द वो कोर्ट में पेश होगा। बता दें कि वो चिठ्ठी लखनऊ से ही पोस्ट की गई है।

खबर मिलते ही एसटीएफ की एक टीम रविवार को कृष्णानगर स्थित दीप प्रकाश के घर पहुंची और उसकी पत्नी से पूछताछ की। दीप के खिलाफ कृष्णानगर कोतवाली में सरकारी गाड़ी नीलामी में लेने वाले को धमका कर गाड़ी ले जाने का मुकदमा भी दर्ज है। इस केस में कृष्णानगर पुलिस उसे वान्टेड घोषित कर चुकी है।

चौबेपुर के बिकरू के आसपास लगभग एक दर्जन गांव हैं, कानपुर देहात, औरैया, मध्य प्रदेश के कुछ शहरों, झांसी, नोएडा, फरीदाबाद आदि शहरों में सर्च ऑपरेशन चलाया मगर दीपू का पता अभी नहीं लग सका है। दीपू घटना के बाद बिकरू से भागा था उस दौरान उसके पास दो मोबाइल नम्बर भी थे। पुलिस ने इन नम्बरों को सर्विलांस पर लिया है मगर दोनों ही स्विच ऑफ हैं और उनकी आखिरी लोकेशन शिवली में मिली थी। दीपू की तलाश के चलते उसके आधा दर्जन रिश्तेदारों के यहां छापेमारी की गई मगर दीपू का कहीं पता नहीं चल पाया है। आपको बतका दें कि एसटीएफ को जानकारी मिली है कि दीपू दुबे कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में है। इसके लिए कुछ लोग उसकी मदद भी कर रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here